उत्तराखंड: मानसून के बाद एक बार फिर शुरू हुई चारधाम यात्रा

0

देहरादून। मानसून का कहर झेलने के बाद उत्तराखंड में जनजीवन सामान्य होने लगा है। इसके साथ ही चारधाम यात्रा भी शुरू होते नजर आ रही है। सरकार ने इस यात्रा के लिए अपनी तैयारियां भी शुरू कर दीं है। 12 सितंबर से हेलीकॉप्टर सेवा फिर से शुरू हो जाएगी। गंगोत्री, यमुनोत्री, केदार और बद्री दर्शन की चारधाम यात्रा इस साल 9 मई को शुरू हुई थी। ख़राब मौसम की वजह से यात्रा को बीच में बंद करना पड़ा था।

चारधाम

चारधाम यात्रा के लिए 12 सितंबर से शुरू होगी हेलीकाप्टर सेवा

उल्लेखनीय है कि मानसून की वजह से जुलाई में ही चारधाम यात्रा बंद करनी पड़ी थ। पर्यटन राज्य के साथ-साथ स्थानीय लोगों की आय का प्रमुख स्रोत है। यह यात्रा गर्मियों में होती है। यात्रा बंद होने की वजह से पर्यटन विभाग के साथ साथ छोटे मोटे व्यापारियों को काफी नुकसान हुआ है।

पर अब एक बार फिर सब कुछ समान्य होते नजर आ रहा है। इस बीच उत्तराखंड सरकार के सूचना विभाग ने जानकारी दी है कि पर्यटन विभाग के तमाम एन्क्वायरी नंबरों पर देश भर से तीर्थयात्रियों के फोन आ रहे हैं। लोग सरकार की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ले रहें ताकि वो अपनी यात्रा को सरल बना सकें। इसके अलावा लोग यात्रा मार्ग कहां तक खुले हैं? सड़कों की हालत क्या है? यहां रुकने की जगह कहाँ है ऐसे सवाल पूछे जा रहें हैं।

सराकर ने भी अपनी तैयारी शुरू कर दी है। 12 सितम्बर से केदारनाथ के लिए हवाई सेवाएं भी शुरू हो जाएंगी। वहीं केदारनाथ समेत पैदल मार्ग पर यात्रियों के लिए भोजन व रहने की जिम्मेदारी देख रहा गढ़वाल मंडल विकास निगम ने भी तैयारियां शुरू कर दी है, यात्रियों की संख्या में बढ़ोत्तरी की संभावना को देखते हुए केदारनाथ, भीमबली, जंगलचटटी में पर्याप्त राशन भिजवा दिया है। साथ यात्रा को सुचारू रूप से चलाने के लिए कर्मचारियों को जगह जगह पर तैनात किया गया है।

इधर, दिल्ली के मौसम विभाग ने भी यात्राओं को फिलहाल हरी झंडी दे दी है। मौसम विभाग के मुताबिक इस बीच बारिश की कोई संभावना नहीं है। छोटी मोटी रुकावटों के साथ ये यात्रा सुचारू रूप से चल सकती है।

loading...
शेयर करें