चीन से कैसे लिया जायेगा बदला,शाम 5 बजे सर्वदलीय बैठक, सोनिया गांधी, शरद पवार भी होंगे शामिल

नई दिल्लीः हिंसक झड़प के बाद लाइन ऑफ एक्चुएल कंट्रोल (एलएसी) पर तनाव बना हुआ है और इसी बीच भारत-चीन सीमा के हालात पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सर्वदलीय वर्चुअल बैठक बुलाई है. ये बैठक आज शाम 5 बजे होगी. इस वर्चुअल बैठक में विभिन्न राजनीतिक दलों के अध्यक्ष शामिल होंगे.

बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, शरद पवार, उद्धव ठाकरे, ममता बनर्जी, एम के स्टालिन, नीतीश कुमार, मायावती, सीताराम येचुरी, डी राजा, चंद्रबाबू नायडू, जगनमोहन रेड्डी, चिराग पासवान शामिल होंगे. बता दें कि ममता बनर्जी ने बुधवार को ही कहा था कि इस समय वो राष्ट्र के साथ खड़ी हैं और सब मिलकर इस स्थिति से लड़ेंगे.

भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा कि गलवान घाटी में जो हुआ है उसके लिए चीन ही जिम्मेदार है. भारत ने किसी समझौते का उल्लंघन नहीं किया है और चीन की तरफ से समझौता तोड़ा गया है. आज विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये बात कही.

गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद देश के 20 शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए पीएम मोदी ने बुधवार को कहा था कि भारत शांति चाहता है, लेकिन उकसाने पर उचित जवाब देने में पूरी तरह सक्षम है. अपने पड़ोसियों के साथ भारत ने हमेशा ही मित्रवत और सहयोग का व्यव्हार रखा है लेकिन देश की अखंडता और संप्रभुता की रक्षा के लिए कड़े से कड़े कदम उठाने से हम पीछे नहीं हटेंगे.

गौरतलब कि पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के एक कर्नल सहित 20 सैनिक शहीद हो गए. यह पिछले पांच दशक से भी ज्यादा समय में दोनों देशों के बीच हुआ सबसे बड़ा सैन्य टकराव है. इसके कारण दोनों देशों के बीच सीमा पर पहले से जारी गतिरोध की स्थिति और गंभीर हो गई है.

Related Articles