चुनावी सभा के बीच आजम को आया गुस्सा, गले से निकाल कर फेंक दी फूलों की माला

0

अपने आखिरी चरणों में पहुंच चुके उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे समाजवादी पार्टी इस बार कोई भी कसर बाक़ी नहीं छोड़ना चाहती। पार्टी के सभी आला नेता जनता से वोट की अपील करते नजर आ रहे हैं। इसी क्रम में बीते मंगलवार को आजम खान बलिया जिले में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करने गए थे, लेकिन वहां हो देखने को मिला वह सपा के लिए ठीक नहीं।

आजम खान

आजम खान ने गुस्से में फेंक दी फूलों की माला

दरअसल, बलिया जिले के बहेरी विधानसभा क्षेत्र के सपा प्रत्याशी के लिए जनसभा को संबोधित करने पहुंचे आजम खान उस वक्त गुस्सा ही गए जब मंच पर उनके मंच पर चढ़ते ही लोगों ने जमकर शोर मचाना शुरू कर दिया और उनके भाषण देने में समस्याओं का सामना करना पड़ा। गुस्से ने उन्होंने गले से निकाल कर फूलों की माला को फेंक दिया जिसे सपा कार्यकर्ताओं ने उनके स्वागत में उन्हें पहनाया था।

मिली जानकारी के अनुसार, आजम खान मंगलवार को बलिया जिले के बहेरी विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी प्रत्याशी लक्ष्मण गुप्ता के लिए वोट मांगने के लिए सदर कोतवाली पहुंचे थे। इस कार्यक्रम में जबरदस्त भीड़ जुटी थी। साथ ही मंच भी ज्यादा बड़ा नहीं था। ऐसे में कई सपा कार्यकर्ता मंच पर चढ़ गए। जनता को संबोधित करने के लिए आजम खान जैसे ही मंच पर बोलने के लिए खड़े हुए तो लोगों ने जानकर शोर मचाना शुरू कर दिया। इससे आजम खान गुस्सा हो गए। इसी दौरान जब उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने स्वागत के लिए जब आजम को फूलों की माला पहनाई तो वो भड़क गए।

आजम को इतना गुस्सा आ गया कि उन्होंने गले से माला निकाल कर फेंक दी। उनका गुस्सा यहीं नहीं थमा, उन्होंने मीडिया के कैमरों को भी हटाने के लिए कहा।

ये सब कुछ देर तक चलता रहा और थोड़ी देर बाद आजम वहां से जाने लगे। जिलाध्यक्ष ने हाथ जोड़कर आजम को मनाया। जिलाध्यक्ष के कहने पर आजम दोबारा बैठ गए। काफी समझाने के बाद आजम सभा को संबोधित करने के लिए खड़े हुए। सभा में बोलते हुए आजम ने सपा प्रत्याशी लक्ष्मण गुप्ता के लिए वोट मांगे।

मंच से बोलते हुए आजम खान ने एसपी प्रत्याशी लक्ष्मण गुप्ता के लिए कहा कि ये काले जरूर हैं, पर दिलवाले हैं। जिसके बाद सभा में मौजूद लोगों ने खूब तालियां बजाई। आजम ने अपने भाषण में पीएम मोदी और मायावती को भी निशाने पर लिया। आजम ने मायावती पर मुसलमानों को आपस में लड़वाने का आरोप लगाते हुए कहा कि मायावती ने विधानसभा चुनाव में 103 सीटों पर मुस्लिमों को टिकट देकर मुस्लिमानो को लड़ाने का काम किया है। वहीं श्मशान और कब्रिस्तान वाले बयान को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा।

मोदी के गधे वाले बयान पर आजम खान ने कहा कि मोदी ने हर सभा में गधे से प्रेरणा लेने की बात कहना शुरू कर दिया। गधा-गधा ही रहता है और उससे प्रेरणा लेने वाला कैसा होग, यह आप भाइयों को बखूबी मालूम है। आरएसएस पर हमला बोलते हुए आजम खान कहा कि ये महीनों नहीं नहाते है और बिना शादी किए ही रह जाते हैं।

 

loading...
शेयर करें