…तो इस वजह से चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल मैच हारी टीम इंडिया

0

नई दिल्ली। भारतीय टीम के हेड कोच रहे अनिल कुंबले ने मंगलवार को कोहली से मनमुटाव के कारण अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। अब खबर आ रही है कि चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मैच के दौरान टीम मीटिंग में टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने पर सहमति बनी थी लेकिन कप्तान विराट कोहली ने ऐसा नहीं किया और टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया। कुंबले इस बात को लेकर कोहली से और नाराज हो गए।

चैंपियंस ट्रॉफी

चैंपियंस ट्रॉफी जीत सकती थी टीम इंडिया

बताया जा रहा है कि कोहली व कुंबले के बीच पिछले छह महीनों से कोई बात नहीं हो रही थी। ऐसे में कोहली के टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला देकर कुंबले को हैरान कर दिया। यही नहीं, जब कुंबले ने कोहली से इसका जवाब मांगा तब भी कोहली बड़े ही बेरुखे अंदाज में उनको जवाब दिया।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने की सहमति इसलिए बनाई गई थी क्योंकि चार जून को भारत और पाकिस्तान के बीच हुए मैच में पाकिस्तान काफी लचर बैटिंग कर रहा था। ऐसे में कुंबले व टीम ने सोचा था कि पाक के लिए कोई बड़ा टारगेट चेस करना काफी मुश्किल होगा लेकिन बाद में कोहली ने ग्राउंड पर जाते ही फैसला बदल दिया और सबसे पहले गेंदबाजी करने का फैसला ले लिया।

चैंपियंस ट्रॉफी

कोहली के इस फैसले से ड्रेसिंग रूम का माहौल खराब हो गया और पाकिस्तान से चैंपियंस ट्रोफी के फाइनल में करारी हार टीम के हिस्से में आई। गौरतलब है कि फाइनल मैच में पाकिस्तान ने फखर जमान की सेंचुरी की बदौलत 338 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था। जवाब में भारतीय टीम दबाव में सिर्फ 158 रनों पर सिमट गई थी और उसे 180 रनो से हार का सामना करना पड़ा था।

यह भी पढ़ें : हॉकी : वर्ल्ड लीग सेमीफाइनल्स में मलेशिया को धूल चटाने को तैयार है भारतीय टीम

बताया जा रहा है कि ये मैच भारतीय टीम कोहली के गलत फैसले की वजह से हारी है। अगर कुंबले और कोहली के बीच अनबन ना हुई होती और अगर कोहली ने कुंबले की बात मान ली होती तो शायद आज परिणाम कुछ और ही होता। बताते चलें, पाकिस्तान ने पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी अपने घर लेकर गया है। इससे पहले पाकिस्तान ने कभी भी चैंपियंस ट्रॉफी का ख़िताब नहीं जीता।

loading...
शेयर करें