चौका देने वाली प्रथा, यंहा दहेज़ में दिए जाते है 21 जहरीले सांप…

भारतीय समाज में शादी के दौरान दहेज़ की प्रथा का प्रचलन लंबे समय से चला आ रहा हैं जो कि कानूनी तौर पर जुर्म हैं। लेकिन आज भी यह समाज में व्यापत हैं। दहेज़ में लड़के वाले लड़की के परिजनों से पैसे की मामंग करते हैं। लेकिन जरा सोचिए कि दहेज़ में कई पैसे की जगह जहरीले सांप दे तो। जी हाँ, ऐसा ही कुछ होता हैं मध्य प्रदेश के एक विशेष समुदाय में जहाँ दहेज़ में पैसे नहीं बल्कि 21 जहरीले सांप दिए जाते हैं। आइये जाते हैं इस पूरे मामले के बारे में।

मध्य प्रदेश के गौरिया समुदाय के लोग अपने दामाद को दहेज में 21 जहरीले सांप देते हैं। इस समुदाय में यह परंपरा सदियों से चली आ रही है। मान्यता है कि अगर इस समुदाय से जुड़ा कोई शख्स अपनी बेटी को शादी में सांप नहीं देता तो उसकी बेटी की शादी जल्दी ही टूट जाती है।

कहते हैं कि बेटी की शादी तय होते ही पिता अपने दामाद को तोहफा देने के लिए सांप पकड़ना शुरू कर देते हैं। इनमें गेंहुअन जैसे जहरीले सांप भी होते हैं। यहां के बच्चों को भी उन जहरीले सांपों से डर नहीं लगता बल्कि वो उनके साथ आराम से खेलते नजर आते हैं।

दरअसल, इस समुदाय के लोगों का मुख्य पेशा सांप पकड़ना है और वो उन्हें लोगों को दिखाकर पैसा कमाते हैं। यही वजह है कि पिता अपनी दामाद को दहेज में सांप देता है, ताकि वो इन सांपों के जरिए कमाई कर सके और परिवार का पेट पाल सके।

इस समुदाय में सांपों को सुरक्षित रखने के लिए कड़ा नियम भी बनाया गया है। कहते हैं कि अगर सांप इनके पिटारे में मर जाता है तो पूरे परिवार के लोगों को मुंडन कराना पड़ता है। साथ ही समुदाय के सभी लोगों को भोज करना पड़ता है।

Related Articles