पांच गोलियां लगने पर भी 6th क्‍लास का स्‍टूडेंट मौत से लड़ गया

कानपुर। मंगलवार की देर रात अज्ञात हमलावरों ने कक्षा छह के छात्र को पांच गोलियां मार दी। लहूलुहान हालत में वह घर की ओर भागा। लेकिन कुछ दूर जाकर एक मंदिर की सीढ़ियों में जा गिरा। छात्र की हालत देख दो युवक कर से उसे अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।

छात्र

छात्र की पीठ पांच गोलियां मारी

छत्तीसगढ़ का राजमिस्त्री पीलाराम बर्रा 2 के हेमन्त विहार के एक खाली प्लाट में झोपड़ी बनाकर रहता है। परिवार में पत्नी व दो बेटे और एक बेटी हैं। उसका बड़ा बेटा हीरालाल कक्षा छह का छात्र है। मंगलवार की रात हीरालाल साईकिल से बाईपास तक माँ से बताकर गया था। कुछ देर बाद वह बर्रा के राम जानकी मंदिर पर लहूलुहान हालत में पड़ा मिला। उसकी पीठ में पांच गोलियां मारी गई थी। जिसमें तीन गोलियां अंदर तक जा धंसी थी। घायल छात्र को लेकर पास के अस्पताल पहुंचे। जहाँ से उसे हैलट रिफर कर दिया गया। लोगों ने उसे हैलट में भर्ती कराया।

बाइक सवारों ने मारी गोली

अस्पताल में होश आने पर हीरालाल ने पुलिस को बताया कि रास्ते में इसकी साइकिल की चेन उतर गई थी। जिसे वह ठीक कर रहा था। तभी पीछे से आए बाइक सवार से उसका विवाद हो गया। इसके बाद जैसे ही वह फिर चेन ठीक करने लगा तभी बाइक सवार ने उसे गोलियां मार दी। थानेदार ने बताया कि परिजनों की तहरीर पर अज्ञात बाइक सवार के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

मुहल्ले के युवकों ने बचाई जान

छात्र हीरालाल को लहूलुहान देख मोहल्ले के कारोबारी गौरव धाकरे व अमित शर्मा ने उसे अस्पताल पहुँचाया। जब उसकी हालत गम्भीर देख हैलट रिफर किया गत तो दोनों ने हैलट में जाकर हीरालाल को भर्ती कराया। उस दौरान डॉक्टरों ने पुलिस का मामला बता किनारा कसना चाहा तो दोनों ने डॉक्टरों को इंसानियत और मानवता की दुहाई देकर भर्ती कराया।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button