छात्र रजिस्ट्रेशन घटा तो बीएसए जिम्मेदार

bs

लखनऊ। बेसिक शिक्षामंत्री अहमद हसन ने कहा है कि हालात बदल रहे हैं, तो सूरते-हाल बदलनी चहिए। बच्चों के सीखने का स्तर सुधारिये, जिससे अभिभावकों का रूझान सरकारी स्कूलों के प्रति बढ़े। जिन जनपदों में छात्र नामांकन घटेगा, उनके जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को इसके लिए उत्तरदायी माना जायेगा।

श्री हसन ने अधिकारियों की एक बैठक में कहा कि सरकारी स्कूल के अपर प्राइमरी एवं उच्च प्राइमरी का स्थान बहुत ऊँचा है। इन्हीं में पढ़कर बच्चे ऊंचे मकाम को हासिल करते हैं।

बेसिक शिक्षा मंत्री ने डायट प्राचार्यो से कहा कि आपको शिक्षा में काम करने का एक सुअवसर प्राप्त हुआ है तो अच्छे काम करिये। उन्होने डायट प्राचार्यों को अच्छे कार्य करने के लिए प्रोत्साहित किया और सेवापूर्व प्रशिक्षण तथा सेवारत प्रशिक्षण में शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करने तथा मूल्यांकन प्रक्रिया के बारे में पुनर्विचार करने की अपेक्षा की।

राज्य मंत्री बेसिक शिक्षा श्री कैलाश चैरसिया द्वारा विशेष रूप से विद्यालयों में पठन-पाठन के निरीक्षण की व्यवस्था तथा अच्छे अध्यापकों को पुरस्कृत करने की व्यवस्था जनपद स्तर पर किये जाने की अपेक्षा की गयी।

सचिव, बेसिक शिक्षा श्री आशीष कुमार गोयल ने डायट्स के अकादमिक दायित्वों को प्राथमिक शिक्षा की गुणवत्ता विकास में उत्तरदायी मानते हुए, प्रत्येक डायट को अपना एक ‘‘विज़न’’ तैयार करने, शोध कार्य करने, शोध कार्यों के मूल्यांकन व शोध कार्य करने वाले अच्छे शोधकर्ताओं को पुरस्कृत करने तथा भविष्य के लिए शोध कार्यों के लिए डायट्स को आगे आने के लिए प्रोत्साहित किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button