अब सीबीआई करेगी छोटा राजन से पूछताछ

मुंबई। मशहूर डॉन छोटा राजन से मुंबई की एक विशेष अदालत ने सीबीआई को 27 जनवरी से 10 दिन तक पूछताछ की अनुमति दी। विशेष मकोका अदालत के न्यायाधीश ए.एल.पनसारे ने यह अनुमति सीबीआई की याचिका पर दी। इसमें जांच एजेंसी ने मुंबई के पत्रकार ज्योतिर्मय डे की दिनदहाड़े हत्या के मामले में छोटा राजन से पूछताछ करने की अनुमति देने का आग्रह किया था। सीबीआई ने छोटा राजन और अज्ञात सरकारी कर्मचारियों को भारतीय दंड संहिता के तहत अपराधिक साजिश, धोखाधड़ी, दस्तावेजों की जालसाजी, भेष बदलकर धोखाधड़ी के आरोप लगाते हुए फर्जी पासपोर्ट मामले में गिरफ्तार किया है।

छोटा राजन

छोटा राजन ने जेल से की वीडियो कांफ्रेंसिंग

सुनवाई में छोटा राजन दिल्ली की तिहाड़ जेल से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुआ। उसने कहा कि उसे इस मामले में आरोप पत्र मिला है और उसे इसे देखने के लिए समय चाहिए। छोटा राजन ने विशेष न्यायाधीश को यह भी बताया कि वह एक कड़ी सुरक्षा वाली सेल में कैद है। उसे हफ्ते में सिर्फ एक दिन के लिए निकाला जाता है। उसे मुंबई में वकील करने और आरोप पत्र का अध्ययन करने के लिए कम से कम 15 दिन चाहिए। एक टीवी कार्यक्रम में सीबीआई डायरेक्‍टर अनिल सिंहा कहा था कि हमारी कोशिशें जारी हैं। छोटा राजन ने सरेंडर नहीं किया, उसे पकड़ा गया था। उसे तलाशने में छह महीने लगे। इस टीवी कार्यक्रम का शीर्षक ही ‘कब आएगा दाउद’ था।

11 लोगों को आरोपी बनाया गया

इस पर अदालत ने कहा कि नई दिल्ली स्थित उसके वकील, अंशुमान सिन्हा अदालत में मौजूद हैं। मिड डे अखबार से ताल्लुक रखने वाले डे (56) की हत्या मुंबई के पवाई में 11 जून 2011 को की गई थी। इस मामले में पत्रकार जिग्ना वोरा समेत 11 लोगों को आरोपी बनाया गया था। छोटा राजन 27 साल से फरार था। उसे बीते साल 25 अक्टूबर को इंडोनेशिया के बाली में गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद 6 नवम्बर को उसे भारत लाया गया। उस पर देश में 70 के लगभग मामले दर्ज हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button