बिहार के बाद अब तमिलनाडु में भी लगेगी शराब पर रोक

0

चेन्नई। एआईएडीएमके प्रमुख और तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता भी बिहार की तरह अपने राज्य को शराब मुक्त बनाना चाहती हैं। जयललिता ने वादा किया है कि वह राज्य की सत्ता में लौटने पर शराब पर रोक लगाएंगी। प्रतिबंध का समर्थन करने के लिए चिर-प्रतिद्वंद्वी द्रमुक प्रमुख एम. करूणानिधि पर तीखे वार करते हुए अम्मा ने कहा कि 1971 में उन्होंने ने ही शराब बंदी कानून में ढील दी थी और मुद्दे को अब राजनीतिक कारणों से उछाल रहे हैं। उनके इस घोषणा का लोगों ने जमकर समर्थन किया।

 जयललिता

 

जयललिता ने अपनी सरकार की  उपलब्धियां गिनवाते हुए कहा …

जयललिता ने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि जनता की खुशी के लिए काम करना ही मेरी प्राथमिकता है। मैंने जिंदगी भर तमिलनाडु के लोगों के लिए काम किया है।

उन्होंने ये भी कहा कि जब वो 2011 में सत्ता में आई थीं तो उस वक्त मरीना बीच के पास बिजली कटौती की आम परेशानी थी। लेकिन पांच साल के बाद अब बिजली जाना वहां के लोगों के लिए पुरानी बात हो गई है।

इस दौरान मुख्मंत्री ने अपनी पार्टी के 21 उम्मीदवारों का भी लोगों से परिचय करवाया जो प्रदेश में होने वाले चुनाव में मैदान में खड़े होंगे। उल्लेखनीय है जयललिता ने बिहार में शराबबंदी लागू होने के बाद तमिलनाडु में भी शराबबंदी लागू करने की घोषणा की है। पिछले साल बिहार में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने महिला मतदाताओं से वादा किया था कि अगर वह फिर से प्रदेश में सत्ता में लौटे तो शराबबंदी को लागू करेंगे।

 

शेयर करें