जिन मुसलमानों के दम पर जीतते थे अखिलेश-माया, अब वो भी आ गए मोदी के साथ

0

लखनऊ कई महीनों से चल रहा यूपी विधानसभा चुनाव का शोर आखिरकार कल थम गया। बीजेपी ने यूपी में अब तक की सबसे बड़ी जीत हासिल की। 2014 के बाद एक बार फिर मोदी की लहर कायम रही और लोगों के सिर चढ़ के बोली। यूपी चुनाव में समाजवादी पार्टी-कांग्रेस का गठबंधन और बसपा का लगभग सूपड़ा साफ हो गया है। इस चुनाव में सबसे अहम बात ये रही कि मुसलमानों ने इस बार पीएम मोदी पर सबसे ज्यादा भरोसा किया। यूपी की 115 मुस्लिम बाहुल्य विधानसभा पर सपा-कांग्रेस गठबंधन और बसपा को पीछे छोड़ते हुए मुस्लिम वोटरों ने भाजपा को वोट दिया है।

115 मुस्लिम सीटों पर करीब 83 पर भाजपा की जीत

इन 115 में से करीब 100 सीटों पर भाजपा की जीत हुई। वहीं, गठबंधन और बसपा को यहां करारा झटका लगा है। पश्चिमी और पूर्वी उप्र में 115 सीट ऐसी हैं जहां मुस्लिम वोटर बड़ी संख्या में है। ये 115 वो सीट हैं जहां हमेशा से सपा और बसपा को वोट मिलता रहा है। वर्ष 2012 के विधानसभा चुनावों की बात करें तो सबसे ज्यादा 65 सीट सपा को मिली थीं। लेकिन इस चुनाव में ऐसा नहीं हुआ और सपा को तगड़ा झटका मिला है। जबकि 2012 में बसपा को 16 सीट मिली थीं और उसे इस बार इसे भी मुस्लिमों ने नकार दिया। अब बात भाजपा की करें तो 2012 में 22 सीट मिली थीं, जो इस बार बढ़कर 83 हो गई हैं। बीजेपी के लिए भी ये खुद को भी चौंकाने वाले नतीजे हैं।

बसपा का सूपड़ा साफ

कल उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों की मतगणना पूरी हुई। शुरुआती रुझानों में बीजेपी और सपा के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिल रही थी। लेकिन देखते ही देखते बीजेपी आगे निकलती चली गई और जादुई आकड़ा छू लिया। यूपी की 403 सीटों पर 325 पर बीजेपी गठबंधन ने बाजी मारी, वहीं प्रदेश की पूर्व सरकार सपा आरै कांग्रेस 55 पर ही सिमिट गई। इसके अलावा मायावती की बसपा की बात करें तो लगभग सूपड़ा साफ हो गया। बसपा को केवल 19 सीटें ही मिल पाईं।

loading...
शेयर करें