तो इतिहास रचने की फिराक में ज़िम्बाब्वे

0

हरारे: तीन टी-20 मैचों की सीरीज के पहले मैच में शनिवार को जिम्बाब्वे के खिलाफ उलटफेर का शिकार हुई भारतीय क्रिकेट टीम सोमवार को अगले मैच में हार का बदला लेकर श्रृंखला में वापसी करना चाहेगी। वहीं, पहले टी-20 में सभी को हैरान करने वाली जिम्बाब्वे अगले मैच में भी जीत हासिल कर इतिहास कायम करने के फिराफ में होगी। आपको बता दें कि आज तक ज़िम्बाब्वे भारत के खिलाफ एक भी टी-20 सीरीज नहीं जीत सका है।

जिम्बाब्वे

जिम्बाब्वे के खिलाफ भारत का खराब प्रदर्शन

जिम्बाब्वे ने पहले मैच में भारत को दो रनों से मात दी थी। जिम्बाब्वे ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत को 171 रनों का लक्ष्य दिया था। मेहमानों को अंतिम गेंद पर जीतने के लिए चार रनों की जरूरत थी, लेकिन दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी विजयी चौका नहीं लगा पाए थे और भारतीय टीम को इस दौरे पर पहली हार का मुंह देखना पड़ा था।

भारतीय कप्तान के लिए युवा टीम को संभालना इस दौरे पर किसी चुनौती से कम नहीं है। पहले मैच में टीम में पांच नए खिलाड़ियों को आजमाया गया था। अनुभव की कमी भारतीय गेंदबाजी और बल्लेबाजी, दोनों में देखने को मिली थी।

पहला टी-20 मैच खेल रहे लोकेश राहुल पहली गेंद पर ही पवेलियन लौट गए थे। मनदीप सिंह और मनीष पांडे ने हालांकि बल्ले से कुछ रन जरूर बटोरे थे, लेकिन दूसरे छोर से उन्हें साथ नहीं मिला।

धोनी को कोशिश होगी कि टीम के बल्लेबाज पिछले मैच की गलतियों को न दोहराएं। टीम की बल्लेबाजी की जिम्मेदारी धौनी के अलावा अंबाती रायडू पर भी होगी।

कप्तान के लिए चिंता गेंदबाजी में भी है। जसप्रीत बुमराह, यजुवेन्द्र चहल और अक्षर पटेल ने पहले मैच में अच्छी गेंदबाजी की थी, लेकिन उनादकत और धवन का खराब प्रदर्शन टीम के लिए चिंता का विषय है।

पहले मैच में जीत के बाद मेजबानों के हौसले बुलंद हैं, लेकिन कप्तान ग्रेम क्रेमर जानते हैं कि भारतीय टीम को दोबारा हराने के लिए उन्हें पहले मैच से ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी। भारतीय टीम घायल शेर की तरह हो गई है जो वापसी के लिए पूरा जोर लगाएगी।

पहले मैच में टीम को 170 के मजबूत स्कोर तक पहुंचाने वाले एल्टन चिगुम्बुरा पर एक बार फिर सभी की निगाहें होंगी। उन्होंने अंत में 26 गेंदों में 54 रनों की तूफानी पारी खेलते हुए टीम को मजबूत लक्ष्य प्रदान किया था जिसे बाद में टीम के गेंदबाज बचाने में कामयाब रहे।

उनके अलाव चामु चिबाबा, हेमिल्टन मासाकाड्जा और सिकंदर रजा बट के कंधों पर भी स्कोर बोर्ड को चलाने की जिम्मेदारी होगी।  टीम के कप्तान क्रेमर चाहेंगे कि गेंदाबाज पहले मैच की ही तरह इस मैच में भी लगातार विकेट लेते रहें।

टीमें (संभावित) :

भारत : महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), जसप्रीत बुमराह, यजुवेंद्र चहल, ऋषि धवन, फैज फजल, केदार जाधव, धवल कुलकर्णी, मंदीप सिंह, करुण नायर, मनीष पांडे, अक्षर पटेल, लोकेश राहुल, अंबाती रायडू, बरिंदर सरन, जयदेव उनादकत और जयंत यादव।

जिम्बाब्वे : ग्रीम केमर (कप्तान), सिकंदर रजा बट, ब्रियान चारी, टेंडाई चाटारा, चामुनओरवा चिबाबा, एल्टन चिगम्बुरा, नेविले माडजिवा, टिमयसेन मारुमा, हेम्लिटन मासाकाड्जा, वेलिंगटन मासाकाड्जा, पीटर जोसेफ मूर, तपिवा मुफुद्जा, तिनोतेंडा मुतोम्बोद्जी, रिचमोंड मुतुम्बामी, तौरइ मुजराबानी, वुसिमुजी सिबांडा, डोनाल्ड टिरिपानो और मैक्लम वालेर।

loading...
शेयर करें