IPL
IPL

यहां रात होते ही शुरू हो जाता है जिस्म का धंधा

लखनऊ। सभ्यता और संस्कृति के विकास के साथ जिस्म का धंधा भी पूरी दुनिया में चरम पर है। पोस्ट मॉडर्न सोसाइटी में जिस्म के धंधे के अलग-अलग रूप भी सामने आए हैं। रेड लाइट इलाकों से निकल कर जिस्म के धंधे अब घरों , मसाज पार्लरों एवं एस्कार्ट सर्विस के रूप में भी फल-फूल रही है। जिस्म का धंधा कमाई का जरिया बन चुका है। इस धंधे में लखनऊ भी पीछे नहीं रह गया है।

पुलिस ने लखनऊ के  विभूतिखंड थानाक्षेत्र में छापेमारी कर सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ करते हुए तीन कॉल गर्ल्स के साथ दो ग्राहकों को दबोचा है। जबकि दो ग्राहक मौका पाते ही फरार हो गए। जानकारी पाते ही जब पुलिस पहुंची तो वहां हड़कम्प मच गया। ग्राहक लड़कियों के साथ आपत्तिजनक स्थिति में रंगरलियां मना रहे थे। पुलिस ने मौके से काफी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री बरामद की है। बताया जा रहा है जिस मकान में यह जिस्म का कारोबार चल रहा था वहां रात के 11 बजते ही ग्राहक और लड़कियों का आना-जाना शुरू हो जाता था। पुलिस पकड़ी गई कालगर्ल और ग्राहकों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

400x400_IMAGE46250836

ऊंची कीमत पर मंगाई जाती थी लड़कियां

 

विभूतिखंड थाना प्रभारी के अनुसार बीती रात क्षेत्र के रिसहा का पुरवा मकान के बाहर युवकों और लड़कियों का लगातार आना-जाना लगा था। अज्ञात सूत्रों के द्वारा इस बात की जानकारी पुलिस को दे दी गई। पुलिस टीम के साथ छापेमारी की गई। जिस मकान में यह देह व्‍यापार चल रहा था वह दिल्ली में रहने वाले इंजीनियर सचिन सिंह का है। थानाध्यक्ष के मुताबिक मकान को दो माह पहले सेक्स रैकेट संचालक ने किराये पर लिया था। संचालक प्रॉपर्टी का भी कारोबार करते हैं। पुलिस के मुताबिक मौके से 3 कॉलगर्ल्स को आपत्तिजनक स्थिति में 2 ग्राहकों के साथ पकड़ा गया है जबकि दो ग्राहक भागने में सफल रहे। पुलिस ने मौके से भारी संख्या में आपत्तिजनक सामग्री भी बरामद की है। इस बात का भी खुलासा हुआ है कि यहां ऊंची कीमत पर बाहर से भी लड़कियां मंगाई और भेजी जाती थी। पकड़ी गई कॉलगर्ल्स में गाजियाबाद निवासी सरिता, जयरामपुर सिधारी निवासी कोमल, मलिहाबाद के भतौली निवासी कविता यादव (सभी नाम काल्पनिक) हैं। कॉलगर्ल यूपी समेत गैर राज्यों में भी भेजी जाती थी। इसके बदले में संचालक ग्राहकों से मनमानी कीमत लेते थे।

इंजीनियर के घर चल रहा था देह व्यापार

 

विभूतिखंड में जिस मकान में यह देह व्यापार चल रहा था वह दिल्ली निवासी इंजीनियर का है। पुलिस ने रैकेट का भंडाफोड़ कर लखनऊ विवि से एमबीए की पढ़ाई कर रहे प्रशांत गुप्ता निवासी रामजानकी बसारतपुर गोरखपुर हालपता खरगापुर गोमतीनगर, प्रॉपर्टी डीलर अमित कुमार मूल निवासी लामा कनकहा सुल्तानपुर हालपता रिसहा का पुरवा किराये का मकान विभूतिखंड को गिरफ्तार किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button