जिहादी जॉन की हुई मौत, आतंकी संगठन आईएस ने कबूला

बेरूत, लेबनान। जिहादी जॉन मारा गया। हां आतंकी संगठन आईएसआईएस ने यह कबूल कर लिया है कि जिहादी जॉन अब नहीं रहा। आईएसआईएस ने कहा है कि पिछले नवंबर में एक ड्रोन हमले में जिहादी जॉन की मौत हो गई है।

jihadi-john

जिहादी जॉन की पहचान की गई सार्वजनिक

बीते साल फरवरी में जिहादी जॉन की पहचान अरब मूल के 27 वर्षीय ब्रिटेन निवासी मोहम्मरद एमवाज़ी के रूप में की गई थी। आईएसआईएस ने अपनी ऑनलाइन पत्रिका Dabiq में कहा कि एजवाजी पिछले साल 12 नवंबर को रक्का में एक ड्रॉन हमले में मारा गया, जब वह अपनी कार में जा रहा था। आतंकी संगठन ने अपनी इस ऑनलाइन पत्रिका में ‘अबु मुहारिब अल-मुजाहिर’ उपनाम से उसके बारे में जिक्र किया था।

अमेरिका ने दी थी मौत की सूचना
पिछले साल सबसे पहले अमेरिका सेना ने ही इस आतंकी के मारे जाने की खबर दी थी। इस आतंकी की मौत ने आतंकी संगठन इस्लामी स्टेट के लिए एक बड़ा झटका करार दिया।

अमेरिकी सेना का बयान
आईएसआईएस के खिलाफ अमेरिकी सैन्य अभियान के प्रवक्ता कर्नल स्टीवन वारेन ने कहा था ‘हम काफी हद तक आश्वस्त हैं कि जिस लक्ष्य यानी जिहादी जॉन को हम मारना चाहते थे वह मारा गया है।’ उन्होंने वेबकास्ट लाइव के जरिये यह जानकारी दी थी। उन्होंने कहा कि बहरहाल इसकी पुष्टि करने में कुछ समय लग जाएगा कि जिहादी जॉन मारा जा चुका है। उन्होंने कहा, ‘यह ड्रोन हमला था। हथियार प्रणाली ने वांछित लक्ष्य को भेद दिया।’

अमेरिकी पत्रकार का सिर किया था कलम
अगस्त 2014 से इस्लामिक स्टेट द्वारा जारी सात वीडियो में एमवाज़ी को दिखाया गया था, जब वह अमेरिकी पत्रकार जेम्स फोली का सिर कमल करते हुए दिखाई दिया था। सितंबर 2014 में एक वीडियो में वह एक और अमेरिकी पत्रकार स्टीव सोटलॉफ और ब्रिटिश सहायता कार्यकर्ता डेविड हैंस का सिर कलम करते वीडियो में भी दिखाई दिया था। वहीं एक हालिया वीडियो में वह ब्रिटिश लहजे (British accent) में सिर कलम करने की धमकी देता हुआ दिखाई दिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button