#JEEMain2017: लड़कियों का नहीं, एक बार फिर चला लड़कों का जादू

0

देहरादून। जेईई मेन का रिजल्ट आ चुका है। एक बार फिर उत्तराखंड ने इसमें महारत हासिल की है जिसका जश्न सभी स्टूडेंट्स ने पूरे दिन मनाया। अच्छे प्रदर्शन के दम पर स्टूडेंट्स ने न सिर्फ आईआईटी के दरवाजे अपने लिए खोल लिए हैं बल्कि नंबरों की दौड़ में भी बीस साबित हुए।

जेईई मेन

जेईई मेन का रिजल्ट आया, तो सभी स्टूडेंट्स ख़ुशी से झूम उठे

दरअसल गुरुवार सुबह से ही सभी स्टूडेंट्स को जेईई मेन के रिजल्ट का इंतजार था। जैसे ही आईआईटी के साथ सभी देश के प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन लेने के लिए होने वाले एंट्रेंस एग्जाम जेईई मेन का रिजल्ट आया, तो सभी स्टूडेंट्स ख़ुशी से झूम उठे।

बता दें, देशभर से लगभग 12 लाख अभ्यर्थियों ने जेईई मेन के एग्जाम में भाग लिया था। जिनमें से आईआईटी के एंट्रेंस एग्जाम जेईई एडवांस के लिए सिर्फ 2.20 लाख स्टूडेंट्स का चयन किया गया है। बचे हुए अभ्यर्थियों के लिए जेईई मेन परीक्षा के स्कोर के आधार पर संयुक्त तौर पर कॉमन मेरिट लिस्ट (सीएमएल) जारी की गई।

इसके आधार पर एनआईटी सहित विभिन्न तकनीकी संस्थानों में एडमिशन का मौका मिलेगा चूंकि कटऑफ इस साल पांच वर्षों में सबसे नीचे गई, इसलिए प्रदेशभर से परीक्षा में भारी संख्या में स्टूडेंट्स को जेईई एडवांस का टिकट मिला है। इस वर्ष सामान्य की कटऑफ 81, ओबीसी की कटऑफ 49, एससी की कटऑफ 32, एसटी की कटऑफ 27 और दिव्यांग की कटऑफ केवल एक अंक रही। देर रात तक प्रदेशभर से नतीजे आने का सिलसिला जारी रहा।

इन स्टूडेंट्स का रहा बोलबाला

आयुष कौशल(292), शिवम चोपड़ा(275), जतिन उनियाल(271), नितिन मोरे(266), समीर कुमार सिंह(265)

loading...
शेयर करें