जेएनयू छात्रों के सिर पर आतंकी हाफिज सईद का हाथ

0

इलाहाबाद। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जेएनयू और हाफिज सईद के कनेक्शन की बात कही है। उन्होंने कहा कि जेएनयू में देशविरोधी नारे लगाने वालों को आतंकी हाफिज सईद का समर्थन हासिल था। इस मामले की जांच की जाएगी। देश विरोधी नारे लगाने वालों को किसी भी हाल में माफ नहीं किया जाएगा।

जेएनयू और हाफिज सईद

जेएनयू और हाफिज सईद का कनेक्शन

राजनाथ सिंह रविवार को इलाहाबाद में थे। यहां वे पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी की पत्नी के निधन पर शोक व्यक्त करने उनके घर आए थे। जेएनयू और हाफिज सईद पर राजनाथ सिंह का यह बयान काफी अहम माना जा रहा है। जेएनयू विवाद पर राजनाथ ने कहा कि यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। ऐसे तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। यह भी ध्यान रखा जाएगा कि किसी निर्दोष पर आंच न आने पाए।

जेएनयू में नौ फरवरी को संसद हमले के दोषी अफजल गुरु की याद में कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस दौरान देश विरोधी नारे लगाए गए थे और अफजल को फांसी देने की निंदा की गई थी। इस घटना के बाद से ही मामले ने तूल पकड़ लिया था। देशद्रोह के आरोप में जेएनयू के छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को गिरफ्तार किया गया था, जबकि कुछ छात्रों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई थी। शनिवार शाम कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी जेएनयू पहुंचे थे। वहां उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा था। भाजपा के छात्र संगठन एबीवीपी ने राहुल को काले झण्डे दिखाए और ‘राहुल गो बैक’ के नारे लगाए थे।

कौन है हाफिज सईद

हाफिज सईद पाकिस्तान के आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा चीफ है। वह जमात उल दावा का भी आका है।  मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड सईद पर 50 करोड़ डॉलर का इ्नाम है। सईद कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा मानता है और खुद को जिहादी बताते हुए भारत के खिलाफ जहर उगलता है। हाल में मुंबई हमलों के आरोपी डेविड कोलमैन हेडली ने भी स्वीकार किया है कि हाफिज सईद के इशारे पर ही यह हमला किया गया था।

loading...
शेयर करें