जेएनयू प्रकरण में राष्ट्रद्रोह की कार्रवाई की मांग

0

जेएनयू की घटना को लेकर छात्रों मे गहरा आक्रोश है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने आगरा में जोरदार प्रदर्शन कर देश की मुखालफत करने वाले आरोपियों को चिन्हित कर राष्ट्रद्रोह की कार्रवाई की मांग की है।

दिल्ली के जेएनयू मे राष्ट्रविरोधी आवाज उठने का विरोध होना शुरू हो गया है। आगरा मे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने विवि परिसर मे इस तरह से राष्ट्रविरोधी नारे लगाने और राष्ट्र विरोधी गतिविधि करने का
विरोध किया और आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रद्रोह के तहत कार्रवाई करने की मांग की।

जेएनयू

जेएनयू प्रकरण क्या है

दिल्ली के जेएनयू मे दो दिन पहले छात्रों ने देश विरोधी नारेबाजी करते हुए अफजल गुरू की जयकार करते हुए नारेबाजी की थी। वे यहीं सीमित नही रहे और कश्मीर जिंदाबाद पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे भी लगाये और भारत गो बैक फ्रॉम कश्मीर की आवाज भी उठायी। ये सब देश की राजधानी के अंदर हुआ और वो भी शिक्षा के मंदिर में, जहां से नयी पीढ़ी को देशभक्ति सिखायी जाती है। यही कारण है कि मामले को लेकर विरोध के स्वर उठने लगे है।

शुक्रवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद शहीद स्मारक पर प्रदर्शन कर राष्ट्रविरोधी गतिविधियों मे लिप्त लोगों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की मांग है कि जो लोग इस तरह की गतिविधियों मे लिप्त हैं। वे किसी न किसी सोची-समझी रणनीति के तहत देशविरोधी काम कर रहे हैं लिहाजा इस तरह के लोगों के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मामला दर्ज किया जाये ताकि आगे से कोई भी अभिव्यक्ति की आजादी की आड़ मे देश की खिलाफत करने की हिम्मत न करे।
शहीद स्मारक मे हुए इस प्रदर्शन के दौरान परिषद पदाधिकारियों और छात्रों मे हाथों मे राष्ट्रविरोधियों की खिलाफत मे बैनर भी थामे हुए थे। साथ ही उनका आक्रोश देखकर साफ जाहिर हो रहा था कि उनमे पूरे मामले को लेकर कितना गहरा आक्रोश व्याप्त हैं।

 

loading...
शेयर करें