IPL
IPL

ज्वाइंट एंट्रेस एग्जाम के अगले साल से लदेंगे दिन

कानपुर। आने वाले समय में ज्वाइंट एंट्रेस एग्जाम के दिन लदने वाले हैं। आईआईटी, एनआईटी, ट्रिपल आईटी, आईएसएम धनबाद और जीएफटी में एडमिशन के ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (जेईई) मेन का अस्तित्व सत्र 2017-18 से खत्म हो जाएगा। इसी सिलसिले में 20 फरवरी को ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड (जैब) की मीटिंग हैदराबाद में बुलाई गई है।

ज्वाइंट एंट्रेस एग्जाम

ज्वाइंट एंट्रेस एग्जाम के सभी चेयरमैन लेंगे हिस्सा

20 फरवरी को होने वाली बैठक में ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (जेईई) एडवांस के सभी चेयरमैन और आईआईटी के डायरेक्टर हिस्सा लेंगे। देश के प्रमुख इंजीनियरिंग, प्रौद्योगिकी संस्थानों में एडमिशन की एक प्रवेश परीक्षा (जेईई एडवांस) पर फैसला करेंगे। एक परीक्षा पर भी फैसला संभव है, जिसका आयोजन साल में दो बार कराया जाना है।

अमेरिका की तरह होगा एडमिशन
अमेरिका के स्कूलॉस्टिक एप्टीट्यूड टेस्ट (सैट) की तरह ही देश के प्रमुख इंजीनियरिंग, प्रौद्योगिकी संस्थानों में एडमिशन की एक व्यवस्था होगी। सत्र 2017-18 से ही साल में दो बार नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (एनएटी) कराया जाएगा। इसमें फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथमेटिक्स और अंग्रेजी के प्रश्न पूछे जाएंगे। जिन चार लाख स्टूडेंटों के स्कोर अच्छे होंगे, उन्हें जेईई एडवांस का पेपर देने का मौका मिलेगा। इसमें सफलता के बाद ही आईआईटी, एनआईटी, ट्रिपल आईटी और जीएफटी में एडमिशन मिल सकेगा। अभी एडवांस से सिर्फ आईआईटी की सीटें भरी जाती हैं। जेईई मेन की मेरिट से एनआईटी, ट्रिपल आईटी और जीएफटी की सीटें भरी जाती हैं लेकिन अगले सत्र से ऐसा नहीं होगा। सभी सीटें एडवांस से भरी जा सकेंगी।

एक नजर
•20 फरवरी को हैदराबाद में आईआईटी की जैब लेगी फैसला
•अमेरिका की सैट जैसी योग्यता परीक्षा, साल में दो बार आयोजन
04 लाख स्टूडेंट भर सकेंगे योग्यता परीक्षा पास करने वाले जेईई एडवांस का फार्म

क्या है जेईई मेन
जेईई मेन क्वालीफाई करने वालों को ही आईआईटी में एडमिशन का मौका मिल पाता है। इसमें सफल ढाई लाख स्टूडेंट जेईई एडवांस का फार्म भरते और पेपर देते हैं। एडवांस में सफलता के बाद आईआईटी में एडमिशन होता है। सत्र 2016-17 में भी ऐसा होगा। जेईई मेन और बोर्ड मार्क्स को लेकर जो मेरिट बनती है, उससे एनआईटी, ट्रिपल आईटी और जीएफटी की सीटें भरी जाती हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button