बद्री सर्राफ के दुकानों पर आयकर ने मारा छापा, एक लॉकर हुआ सील

0

लखनऊ। नोटबंदी के दौरान बैंकों में काला धन जमा करने वालों पर अब आयकर विभाग ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। मिली जानकारी के मुताबिक, बद्री सर्राफ ने नोटबंदी के दौरान 15 करोड़ से ज्यादा की रकम अपने बैंक खाते में जमा करवाई थी। बीते शनिवार को आयकर विभाग की टीम ने लखनऊ के प्रसिद्ध ज्वैलर्स बद्री सर्राफ की दो दुकानों और घर पर छापा मारा।

ज्वैलर्स

 

ज्वैलर्स के ग्राहकों में शहर के कई नामी-गिनामी नाम भी हैं शामिल

इतना ही नहीं, अब आयकर विभाग की टीम छापेमारी के बाद उन लोगों पर भी अपना शिकंजा कसने वाली है जिन्होंने नोटबंदी के दौरान सोने की खरीद की थी। सूत्रों के मुताबिक, आयकर विभाग के अधिकारीयों के पास बद्री सर्राफ के ग्राहकों के नाम भी हैं जोकि शहर के काफी नमी-गिनामी लोग हैं। कयास यह भी लगाये जा रही है कि उन ग्राहकों पर भी आयकर विभाग जल्द ही शिकंजा कसेगा।

बता दें, आयकर विभाग को बद्री सर्राफ के बारे में मिली जानकारी के आधार पर ही टीम ने छापेमारी की। इतना ही नहीं, आयकर अधिकारीयों का यह भी मानना है कि नोटबंदी के बाद अपना कालाधन खपाने के लिए करोड़ों रुपये की बिक्री बद्री सर्राफ द्वारा की गई थी। छापेमारी के दौरान टीम ने ज्वैलर्स का एक लॉकर भी सील किया है।

आयकर विभाग ने शनिवार सुबह 10 बजे छापेमारी शुरू की। इस छापेमारी में करीब 90 अधिकारीयों ने हिस्सा लिया, जिसके लिए लखनऊ के बहार के अधिकारीयों की टीम भी बुलाई गयी थी।

loading...
शेयर करें