Diabetic महिलाएं खाने-पीने को लेकर होती हैं लापरवाह

लंदन। डायबिटीज से पीड़ित एक तिहाई युवा महिलाओं में जरूरत से ज्यादा भोजन करने के कारण उनमें इंसुलिन की मात्रा प्रभावित होती है, जिससे हृदय रोग, तंत्रिका क्षति और दृष्टि समस्या जैसे गंभीर रोग सता सकते हैं। दियाबुलिमिया जरूरत से अधिक भोजन करने का विकार है, जो टाइप 1 डायबिटीज से पीड़ितों में इंसुलिन हार्मोन की मात्रा कम कर देता है।

 डायबिटीज से पीड़ित

डायबिटीज से पीड़ितों को समर्थन करने

एक वेबसाइट के मुताबिक, लंदन के किंग्स कॉलेज की प्राध्यापक जैनेट ट्रेजर ने बताया, “डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं में जरूरत से ज्यादा भोजन से उत्पन्न विकार की समस्या अधिक होती है। 15 से 20 प्रतिशत युवा महिलाओं को यह विकार होता है और टाइप 1 मधुमेह पीड़ितों में इस विकार के जोखिम की दोगुनी आशंका होती है। इसके पता चलता है कि डायबिटीज से पीड़ित एक तिहाई महिलाएं इस विकार से प्रभावित होती हैं।”

डायबिटीज से पीड़ितों को समर्थन करने वाले ब्रिटेन के समुदाय से जुड़े चारलोट समर्स ने बताया, “दियाबुलिमिया एक गंभीर स्थिति है, जिसकी अक्सर अनदेखी की जाती है। टाइप 1 डायबिटीज से रोगियों के लिए इंसुलिन में पर्वितन एक हानिकारक प्रभाव हो सकता है। इससे बचने के लिए खान-पान पर ध्यान देना बहुत जरूरी है।”

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button