अगर मैंने उस दिन ऐसा न किया होता तो आज पीएम मोदी जिंदा न होते

0

अहमदाबाद गुजरात के पूर्व आइपीएस अधिकारी और फ़र्जी एनकाउंटरों के मामले में आरोपी डीजी वंजारा ने बहुत बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने अपने किए एनकाउंटरों पर सफाई दी। उन्होंने कहा कि मैंने जितने भी एनकाउंटर किए सब कानूनी दायरे में थे। इतना ही नहीं उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर भी एक खुलासा कर डाला। डीजी वंजारा ने कहा कि ये एनकाउंटर नहीं किए होते तो आज पीएम मोदी जिंदा नहीं होते।

डीजी वंजारा

डीजी वंजारा करीब 56 जन सभाओं और कार्यक्रमों में भाग ले चुके हैं

वंजार ने ये सब बातें अपने सम्मान में आयोजित एक कार्यक्रम में कहीं। जेल से रिहा होने के बाद वंजारा अभी तक करीब-करीब 56 जन सभाओं और कार्यक्रमों में भाग ले चुके हैं। इसी क्रम में सोमवार को वो अहमदाबाद में अपने सम्मान में आयोजित की गई एक रोड शो और फिर सम्मान कार्यक्रम में भाग ले रहे थे।

इस कार्यक्रम में डीजी वंजारा को 10 रुपये के सिक्कों से तौला गया और बाद में बंजारा ने मंच से लोगों को संबोधित किया। लोगों को संबोधित करते हुए बंजारा ने कहा कि आज से ठीक दस साल पहले मुझे गिरफ्तार किया गया था। मुझपर जो आरोप लगाए गए उस बारे में कहना चाहता हूं कि अगर मैंने वो एनकाउंटर नहीं किए होते तो आज गुजरात कश्मीर बन गया होता। वंजारा ने आगे कहा कि सारे के सारे एनकाउंटर कानून के दायरे में रहते हुए किए गए और अगर नहीं किए जाते तो आज पीएम मोदी जिंदा नहीं होते। यहां यह बताते चलें कि डीजी बंजारा गुजरात विधानसभा चुनाव लड़ना चाहते हैं। अभी तक उन्होंने यह खुलासा तो नहीं किया है कि वो अपने राजनैतिक सफर की शुरूआत किस पार्टी से करेंगे।

पिछले दिनों आसाराम से भी मिले थे वंजारा

बता दें वंजारा ने इससे पहले जोधपुर जेल में बंद आसाराम से मुलाकात की थी। नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में पिछले तीन वर्षों से जोधपुर जेल में बंद आसाराम से वंजारा ने करीब 15 मिनट तक बातचीत की थी। जेल से बाहर आने के बाद मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा था कि आसाराम को एक साजिश के तहत फंसाया गया है। आसाराम के साथ अन्याय हो रहा है। यह मुलाकात पिछले दिनों हुई थी।

loading...
शेयर करें