डीडीसीए घोटाले में केजरीवाल के 2000 पेजों का जवाब

नई दिल्लीे। डीडीसीए घोटाले पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता राघव चढ्डा ने दिल्ली‍ हाईकोर्ट में अपने जवाब दाखिल कराए हैं।

दिल्‍ली

डीडीसीए घोटाले में मानहानि का मुकदमा

डीडीसीए घोटाले में नाम आने पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने केजरीवाल समेत कुल छह आप नेताओं के खिलाफ मानहानि और आपराधिक मानहानि का मामला दर्ज कराया था। आप के दोनों नेताओं ने हाईकोर्ट को 2000 पेजों में जवाब दिया और साथ ही तीन सीडी भी जमा कराई हैं।

कीर्ति आजाद के आरोपों की सीडी भी सौंपी
आप नेताओं की ओर से दाखिल जवाब में डीडीसीए में घोटाले से जुड़े दस्तावेज दिए गए हैं। साथ ही सीडी में कुछ रिकॉर्डिंग भी सौंपी गई हैं जिनमें वित्त मंत्री पर बीजेपी नेता कीर्ति आजाद घोटाले का आरोप लगा रहे हैं। केजरीवाल की ओर से दायर किए गए जवाब में कहा गया है कि जेटली की ओर से 10 करोड़ रुपये मांगना गलत है। उनकी छवि ऐसी नहीं है जिसके गंवाने का वह दावा कर रहे हैं।

केजरीवाल का जवाब
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने जवाब में लिखा है कि साल 2014 में उन्होंने अमृतसर से चुनाव लड़ा था और बुरी तरह हार गए। जबकि उस चुनाव में बीजेपी की बड़ी जीत हुई थी। इससे साफ होता है कि जनता ने उन्हें कभी भी नेता के तौर पर नहीं चुना।

चार अन्य नेता भी देंगे जवाब
इस मामले में बाकी चार आरोपियों को भी पांच फरवरी से पहले अपना जवाब दाखिल करना है। पांच जनवरी को अरुण जेटली ने केजरीवाल और आप के नेताओं के खिलाफ हाई कोर्ट में मानहानि का केस दायर था। उन्होंने मुआवजे के तौर पर 10 करोड़ रुपये की भी मांग की थी।

यह है मामला
आम आदमी पार्टी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली पर दिल्ली जिला क्रिकेट एसोसिएशन में बड़े स्तर पर आर्थिक गड़बड़ियों का आरोप लगाया है। आप नेताओं का आरोप है कि जेटली के डीडीसीए अध्यक्ष रहते ना सिर्फ ठेके देने में पैसे लुटाए गए बल्कि किराए के प्रिंटर और लैपटॉप भी मंगाए गए।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button