डेविस कप : स्पेन ने क्रोएशिया को रौंदकर क्वार्टर फाइनल में बनाई जगह

ओसिजेक (क्रोएशिया)| स्पेन ने रोमांचक मुकाबले में पलटवार करते हुए क्रोएशिया को 3-2 से मात देकर डेविस कप वर्ल्ड ग्रुप के क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है। स्पेन की टीम पांच साल में पहली बार डेविस कप के क्वार्टर फाइनल में उतरेगी, जहां उसका सामना सर्बिया से होगा।

डेविस कप

स्पेन का मिशन ‘फाइनल’

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, रॉबटरे बाउतिस्ता अगुट के पास टीम को मुकाबले में वापस लाने की जिम्मेदारी थी। उन्होंने अपनी टीम को निराश नहीं किया और मुकाबले के तीसरे एवं अंतिम दिन रविवार को चौथे मैच में उलट एकल वर्ग के मुकाबले में क्रोएशिया के फ्रांको स्कुगोर को सीधे सेटों में 6-1, 6-7 (4), 6-3, 7-6 (6) से मात दी। मैच के बाद बाउतिस्ता ने कहा, “मैच से पहले मैं घबराया हुआ था और चौथे सेट के अंत में क्रोएशिया के समर्थकों ने मुझ पर और दबाव बना दिया था। लेकिन मैंने किसी तरह अपने आप को संभाला और अपना ध्यान मैच पर फिर से केंद्रित किया और जीत हासिल की।”

इस जीत के बाद स्पेन की जीत के रास्ते खुल गए थे। कारेने बुस्ता ने दूसरे उलट एकल मैच में क्रोएशिया के निकोला मेक्टीक को सीधे सेटों में 7-6 (4), 6-1, 6-4 से मात देते हुए स्पेन को जीत दिलाई। मैच के बाद उन्होंने कहा, “पहला सेट मुश्किल रहा। वह हर ब्रेक के बाद अच्छी वापसी कर रहे थे, लेकिन जब मैं टाई ब्रेक में मैच को ले गया तो उनका खेल कमजोर हो गया।” क्रोएशिया को विश्व ग्रुप में जगह बनाने के लिए अब सिंतबर में दोबारा प्रयास करना होगा। स्पेन की टीम दो महीने बाद बाल्कन जाएगी, जहां वह क्वार्टर फाइनल में सर्बिया के खिलाफ कोर्ट पर उतरेगी।

इस मुकाबले में विश्व टेनिस के दो दिग्गजों के बीच मैच देखने को मिल सकता है। यदि स्पेन के राफेल नडाल और सर्बिया के नोवाक जोकोविक दोनों इस मुकाबले को खेलने के लिए हामी भरते हैं तो इन दोनों खिलाड़ियों के बीच मैच होना तय है। जोकोविक ने पहले दौर में सर्बिया को रूस के खिलाफ जीत दिलाई।

स्पेन और क्रोएशिया के बीच हुए मैच के पहले दिन एकल वर्ग के मुकाबले में फ्रांको ने कारेनो को मात दी थी। वहीं बाउतिस्ता ने एंटे पेविक को शिकस्त देकर 1-1 से बराबरी करा दी थी। दूसरे दिन युगल वर्ग में क्रोशिया के मारिन ड्रागंज और मेकटिक ने स्पेन के फेलेसियानो लोपेज और मार्क लोपेज की जोड़ी को मात देकर क्रोएशिया को 2-1 से बढ़त दिलाई थी।

Edited by- shailendra verma

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button