डॉक्टरों की शिल्पकारी देगी आपके शरीर को खूबसूरत शेप

0

आगरा। मिट्टी की जगह होगा आपके ही शरीर का फैट और सुंदर मूरत की जगह होंगे आप खुद। इस तरह आपके शरीर को खूबसूरत शेप देने के काम को अंजाम देगी कॉस्मेटिक डॉक्टरों की शिल्पकारी। आंख, नाक, बाल को आपके अनुरूप ढालने के साथ आपके पूरे शरीर का संतुलन ठीक हो सकता है। आपके गाल पिचक गए हैं और जांघे मोटी हैं तो जांघों से फैट को निकाल कर आपके गाल खूबसूरत बनाए जा सकते हैं। प्रिगनेंसी के बाद यदि पेट निकल आया है तो आप एब्डोमिनोप्लास्टि से पहले जैसी छरहरी काया पा सकती हैं। छोटे या बड़े ब्रेस्ट को भी फैट कम या ज्यादा कर (फैट ग्राफ्टिंग से) खूबसूरत दिखने के लिए अपने अनुरूप आकार और शेप दिया जा सकता है।

कॉस्मेटिक
वर्कशॉप में शामिल विशेषज्ञ डॉक्‍टर एवं अतिथि

फतेहाबाद रोड स्थित होटल डबल ट्री (हिल्टन) में चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन  ( इंटरनेशनल सोसायटी ऑफ एस्थेटिक प्लास्टिक सर्जरी) का आयोजन किया गया। पहले दिन जहां पाठक हॉस्पीटल में निशुल्क ऑपरेशन कर देश विदेश के 400 से अधिक डॉक्टरों ने कॉस्मेटिक सर्जरी की नई तकनीकों का आदान प्रदान किया। सम्मेलन के चेयरमैन डॉ. लोकेश कुमार ने बताया कि फैट ग्राफ्टिंग के जरिए आज पूरे शरीर को बेहतरीन शेप प्रदान की जा सकती है। जहां फैट अधिक है वहां का फैट निकालकर दूसरे अंग में भर दिया जाता है। जर्मन से आए डॉ. क्लाउस के अनुसार फैट ग्राफ्टिंग की इस विधि का 80 फीसदी प्रयोग महिलाएं ब्रेस्ट को संतुलित आकार देने के लिए करवाती हैं। ब्रेस्ट के असतुंलित होने का कारण ब्रेस्ट कैंसर, ब्रेस्ट के आकार का छोटा या बड़ा होना या फिर किसी अन्य वजह से ठीक से विकसित न हो पाना हो सकता है।

कॉस्मेटिक
वर्कशॉप में शामिल विशेषज्ञ डॉक्‍टर एवं अतिथि

पहले ब्रेस्ट को आकार प्रदान करने के लिए सिलीकॉन का प्रयोग किया जाता था। जिसके लीक होने की सम्भावना होती थी, साथ ही दस वर्ष बाद इसके लिए दोबारा ऑपरेशन कराना पड़ता था। लेकिन फैट ग्राफ्टिंग से अपने ही शरीर के फैट को बॉटी आसानी से ग्रहण कर लेती है। साथ ही वॉटर जेट फैट ग्राफ्टिंग ने इसकी सफलता के प्रतिशत को बढ़ाकर 20 से 80-90 प्रतिशत तक पहुंचा दिया है। इसके लावा फैट ग्राफ्टिंग से पिचके हुए गाल को भी बेहतरीन शेप दी सकती है। यानि अब अक शिल्पकार की तरह फैट ग्राफ्टिंग के जरिए डॉक्टर आपके पूरे शरीर को एक सांचे में ढाल सकते हैं। इस मौके पर आर्गनाइजिंग कमेटी के दिल्ली टीम के साथ डॉ. लोकेश कुमार व आगरा टीम के साथ डॉ. राहुल सहाय मौजूद थे।

वर्कशॉप में हुए तीन ऑपरेशन

कॉस्मेटिकफतेहाबाद रोड ताजनगरी फेस-2 स्थित पाठक हॉस्पीटल में वर्कशॉप का आयोजन किया गया। जहां हुए तीन ऑपरेशनों का लाइव टेलीकास्ट कांफ्रेंस स्थल में मौजूद लगभग 400 डॉक्टरों को एजूकेट करने के उद्देश्य से होटल डबल ट्री (हिल्टन) में किया गया। ग्रीस के डॉक्टर वाकिस कान्टोस ने एब्डोमिनोप्लास्टी (शरीर में एक स्थान के अधिक फैट को हटाकर दूसरी जगह फिक्स करना), साउथ अफ्रीका के डॉक्टर पीटर स्कोट ने विलीपेरोप्लास्टी (आंख की झुर्रियां हटाने की सर्जरी) व जर्मन के डॉ. क्लाउस के निर्देशन में फेट ग्राफ्टी के ऑपरेशन किए गए।

ऐसे में न कराएं सर्जरी

1-18 वर्ष की उम्र से पहले कॉस्मेटिक सर्जरी नहीं करानी चाहिए।
2-यदि आप डायबिटिक हैं कॉस्मेटिक सर्जरी न कराएं। यदि कराना जरूरी है तो पहले डायबिटीज को कंट्रोल करें।
3-डाइपरटेंशन व हृदय रोगियों को भी तब तक कॉस्मेटिक सर्जरी से बचना चाहिए जब तक उनकी दवाएं चल रही हैं।
4-यदि चेहरे पर मुहांसे या अन्य तरह का इनफेक्शन है तो सर्जरी से पहले उसका इलाज कराएं। अन्यथा इनफेक्शन हो सकता है।
कॉस्मेटिकल सर्जरी के दौरान किस बात का रखें खयाल
1-सर्जरी के बाद जिन चीजों का खयाल रखना चाहिए, उन चीजों की पहले से ही आदत डाल लेना और खुद को मानसिक रूप से उन बातों के लिए तैयार करना ज्यादा बेहतर है।
2-मसलन धूप में बाहर न निकलें। यदि निकलना जरूरी है तो सनस्क्रीन का प्रयोग अवश्य करें।
3-ऑपरेशन के बाद इनफेक्शन न हो, इसके लिए खुद की साफ सफाई का खयाल रखें।
4-सर्जरी के बाद ऐसे स्थान पर न जाएं जहां इनफेक्शन होने की सम्भावना हो।

loading...
शेयर करें