डॉलर के मुकाबले रुपया औंधे मुंह गिरा

नयी दिल्ली। शेयर बाजार में भारी गिरावट और डॉलर इंडेक्स में तेजी के चलते बुधवार को डॉलर के मुकाबले रुपया भी 68 का लेवल पार कर गया। ये 4 सितंबर, 2013 के बाद सबसे निचला स्तर है। दूसरी ओर, बुधवार दोपहर 12 बजे एशियाई मार्केट में गिरावट से सेंसेक्स 24000 और निफ्टी 7300 के नीचे आ गया। डॉलर के मुकाबले रुपये में आ रही गिरावट का भारतीय अर्थव्यवस्था पर दूरगामी असर पड़ने की उम्मीद है।

रुपए के गिरने से इनपर पड़ेगा असर – दाल, इडेबल ऑयल और इलेक्‍ट्रॉनि‍क प्रोडक्‍ट्स के दाम बढ़ सकते हैं। विदेश सैर और विदेशी एजुकेशन भी महंगी हो जाएगी।

इन सेक्टर्स को होगा फायदा – आईटी, फार्मा, टेक्‍सटाइल, डायमंड, जेम्‍स एवं ज्‍वैलरी सेक्‍टर के एक्सपोर्टर्स को फायदा मिलेगा। चाय, कॉफी, चावल, गेहूं, कपास, चीनी और मसालों के एक्सपोर्ट्स को भी फायदा होगा।

ये भी पढ़ें – पानी-पानी हो गया तेल, 30 डॉलर के नीचे आयी कीमतें

डॉलर 3

डॉलर के मुकाबले क्यों आ रही रुपए में गिरावट – शेयर बाजार में गिरावट से रुपए पर दबाव बढ़ता जा रहा है। विदेशी पूंजी निवेश कम होना भी एक बड़ी वजह है। गोल्ड की खरीददारी बढ़ने से भी रुपया टूट रहा है। अमेरिका में इंटरेस्ट रेट बढ़ने से डॉलर में इन्वेस्टर्स की दिलचस्पी बढ़ी है।

शेयर बाजार में गिरावट के साथ शुरुआत – घरेलू शेयर मार्केट में गिरावट बढ़ती जा रही है। निफ्टी 19 महीने के बाद 7300 के नीचे फिसल गया है। फिलहाल, बीएसई का 30 शेयरों प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 410 अंक गिरकर 24,070 के स्तर पर आ गया है। वहीं एनएसई का बेंचमार्क इंडेक्स निफ्टी 140 अंक गिरकर 7,298.70 के स्तर पर है।

ये भी पढ़ें – इंटरनेशनल ऑयल कंपनी करेगी 500 मिलियन डॉलर का निवेश

डॉलर 4

रुपया छू सकता है 69 का लेवल

आरबीएस के रिसर्च हेड संजय माथुर कहते हैं कि करेंसी मार्केट में स्टैबिलिटी आने के फिलहाल कोई संकेत नहीं मिल रहे हैं। जून तक एशियाई करेंसी पर भारी दबाव रहेगा। डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया 69 के पार भी जा सकता है। मैक्लाई फाइनेंशियल की एवीपी केता कुरकुटे का कहना है कि महीने का अंत होने के चलते रुपए की मांग कम हुई है। और करेंसी फ्यूचर्स मार्केट में भी काफी रोलओवर हुए हैं। अब रुपया 68.50 रुपए तक नीचे आ सकता है। अगर इससे ज्यादा गिरावट आती है तो आरबीआई को रुपए की गिरावट रोकने के लिए कुछ अहम और कारगर कदम जरूर उठाने होंगे।

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button