राष्ट्रपति चुनाव तो जीत गए ट्रंप, लेकिन जीत नहीं पा रहें जनता का भरोसा

0

वाशिंगटन। डोनाल्ड ट्रंप 20 जनवरी को अमेरिकी राष्ट्रपति पद की शपथ लेने वाले हैं, मगर विडंबना यह है कि आधे से ज्यादा अमेरिका के नागरिकों  को ट्रंप की योग्यता पर शक है।

उन्हें डोनाल्ड ट्रंप द्वारा अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों को सुलझाने, चतुराईपूर्वक सैन्य बल का इस्तेमाल करने या अपने प्रशासन को विवाद से बचाने की योग्यता पर शक है।

डोनाल्ड ट्रंप

डोनाल्ड ट्रंप की योग्यता पर आधे से ज्यादा अमेरिकियों को है शक 

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने गैलप सर्वेक्षण के हवाले से सोमवार को बताया कि डोनाल्ड ट्रंप की तुलना में 10 में 7 अमेरिकियों को बराक ओबामा, जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बिल क्लिटंन पर ज्यादा भरोसा था। 
सर्वेक्षण में शामिल 46 फीसदी प्रतिभागियों का मानना था कि ट्रंप अंतराष्ट्रीय मुद्दों पर सही रुख अपनाएंगे, जबकि 47 फीसदी का मानना है कि वह सैन्य बल इस्तेमाल बुद्धिमानी से करेंगे और 44 फीसदी का मानना है कि वे अपने प्रशासन को बड़े विवादों से बचा सकते हैं।

गैलप के सर्वेक्षण विशेषज्ञ जेफरी एम. जोन्स ने कहा कि हालांकि अमेरिकियों ने ज्यादा भरोसा ट्रंप के कांग्रेस के साथ मिलकर प्रभावी तरीके से काम करने (60 फीसदी), अर्थव्यवस्था को प्रभावी ढंग से संभालने (59 फीसदी), राष्ट्रपति के रूप में विदेश में अमेरिकी हितों की रक्षा (55 फीसदी), कार्यकारी शाखा का प्रभावी ढंग से प्रबंधन (53 फीसदी) में जताया।

ये नतीजे गैलप द्वारा 7 से 11 दिसंबर तक कराए गए सर्वेक्षण पर आधारित हैं, जिसमें 18 साल से अधिक उम्र के 1,028 अमेरिकी शामिल हुए थे।

loading...
शेयर करें