ट्रंप ने यातना रणनीति पर बदला अपना रुख

0

वाशिंगटन। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने द न्यूयॉर्क टाइम्स को दिए अपने साक्षात्कार में कहा है कि वह यातना के तरीकों को फिर से लागू करने के पक्ष में नहीं हैं। चुनाव प्रचार अभियान के दौरान ट्रंप ने संदिग्ध आतंकियों के खिलाफ यातना के तौरतरीकों के रणनीतिक इस्तेमाल की वकालत की थी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, यातना को लेकर ट्रंप के रुख में बदलाव सेवानिवृत्त मेरीन कॉर्प्स जनरल जेम्स मैटिस के साथ साप्ताहांत में हुई मुलाकात के बाद आया है, जिन्हें ट्रंप के मुताबिक, अमेरिका का अगला रक्षा प्रमुख बनाने पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है।

डोनाल्ड ट्रंप

डोनाल्ड ट्रंप ने द न्यूयॉर्क टाइम्स को दिए साक्षात्कार

द टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप ने कहा, “उन्होंने (मैटिस ने) कहा, ‘मुझे कभी नहीं लगा कि इसका (यातना देने का) कोई लाभ है।”‘ ट्रंप के अनुसार, मैटिस ने उनसे कहा, “मुझे सिगरेट का एक पैकेट और बीयर की कुछ बोतलें दीजिए और मैं बेहतर करके दिखा दूंगा।” ट्रंप ने कहा कि वह मैटिस के इस उत्तर से बेहद प्रभावित हुए। ट्रंप ने साथ ही कहा कि उन्होंने इससे यह निष्कर्ष निकाला कि यातना से कोई ऐसा कोई परिणाम नहीं निकलेगा जिसके बारे में लोग आमतौर से सोचते हैं।

ट्रंप ने अपने प्रचार अभियान में बार-बार कहा था कि वह आतंकवाद के संदिग्धों से पूछताछ के दौरान इस्तेमाल किए जाने वाले यातना के तरीकों को फिर से लागू करेंगे। यहां तक कि एक बार उन्होंने संदिग्ध आतंकवादियों के परिजनों की हत्या का विचार भी रखा था।

loading...
शेयर करें