तकमीम ने ‘रिवर्स स्पेलिंग’ पढ़कर ‘लिम्का बुक’ में दर्ज कराया नाम

0

फैजाबाद। सपना हुआ साकार…हर किसी का सपना होता है कि वो अपनी जिंदगी में कुछ ऐसा करे कि उसका हर तरफ नाम हो लेकिन बहुत कम ही लोग ऐसे  होते हैं, जो अपने सपने के प्रति ईमानदार होते हैं। इरादे मजबूत हों और मन में मंजिल को पाने की चाह हो, तो व्यक्ति किसी भी मंजिल को पा सकता है। ये लाइनें तकमीम फात्मा पर बिल्कुल सटीक बैठती हैं। खुद को अलग दिखाने की चाह ने इस लड़की को‘रिवर्स स्पेलिंग बैकवर्ड’ का हकदार बना दिया।

तकमीम

फैजाबाद शहर के ऋषि टोला मोहल्ला निवासी पूर्व शिक्षाधिकारी रियाजत हुसैन की नातिन तकमीम फात्मा ने अंग्रेजी की स्पेलिंग को उलटकर पढ़ने में ऐसी महारत हासिल की कि उसका नाम देश के लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड के नेशनल रिकार्ड में शामिल हो गया। तकमीम फिलहाल मुम्बई में रह रही हैं। तकमीम को 16 मार्च को प्रमाण पत्र दिया गया। उसके पिता आबिद हुसैन मुम्बई में ही एक निजी कंपनी में कार्यरत हैं।

छोटी बहन से प्रेरित होकर बनाया रिकार्ड

‘रिवर्स स्पेलिंग बैकवर्ड’ में नेशनल रिकार्ड बनाने वाली फैजाबाद की तकमीम फात्मा ने बातचीत में कहा कि वह अपनी छोटी बहन गानिया के साथ खेल रही थीं। तभी उन लोगों ने सोचा कि क्यों न कुछ नया करके गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज कराया जाए। छोटी बहन से प्रेरित होकर तकमीम ने अंग्रेजी के शब्दों को उलटा पढ़ने की प्रैक्टिस शुरू की। धीरे-धीरे करके उसने 50 वर्ड दो मिनट में पूरे किए। एक दिन इंटरनेट पर उसने सर्च कर देखा कि क्या रिवर्स स्पेलिंग में भी कोई रिकार्ड है तो उसने पाया कि बेंगलुरु के एक 40 वर्षीय व्यक्ति ने रिवर्स स्पेलिंग बैकवर्ड में 50 वर्ड एक मिनट 22 सेकेंड में उलटा पढ़कर लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में नाम दर्ज कराया है। इसी रिकार्ड को तोड़ने के लिए उसने ठान ली।

सात नवम्बर 2015 को रॉयल कॉलेज औफ आर्ट्स, साइंस एण्ड कामर्स थाने महाराष्ट्र में आयोजित रिवर्स स्पेलिंग स्पर्धा में वह प्रतिभागी बनी। जहां उसे 50 शब्द अंग्रेजी के उल्टा पढ़ने को दिए गए जिसे तकमीम ने एक मिनट 05.11 सेकेण्ड में उलटा पढ़कर इतिहास रच दिया। लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड की ओर से भी तकमीम को नेशनल अवार्ड से नवाजा गया है। बता दें कि अब तकमीम रिवर्स स्पेलिंग में अपना नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में शामिल कराने की तैयारी कर रही हैं।

loading...
शेयर करें