IPL
IPL

तत्काल टिकट लेने वालों के लिए यह जरूरी खबर

नई दिल्‍ली। तत्काल टिकटों में बढ़ रही धांधली से लोगों के साथ-साथ रेलवे को भी काफी परेशानी होती है। इसलिए रेलवे ने तत्काल टिकट बुकिंग कराने के लिए नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

तत्काल टिकट

तत्काल टिकट में धांधली रोकने को नया प्लान

तत्काल टिेकट में धांधली को रोकने के लिए आईआरसीटीसी ने अब इसके सत्यापन का काम शुरू कर दिया है। सत्यापन में तत्काल टिकट लेने वाले किसी भी शख्स को फोन करके उससे टिकट के लिए दिए गए ब्यौरे की जानकारी के बारे में पूछताछ की जाएगी। वहीं आईआरसीटीसी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक एके मनोचा ने कहा है कि अब 35 सेकंड की अनिवार्य प्रतीक्षा से पहले ऑनलाइन टिकट बुक करना संभव नहीं। ऐसा किसी अन्य तरीके का इस्तेमाल करके अनैतिक तत्वों द्वारा तेजी से टिकट बुकिंग को रोकना है।

35 संकेंड ही क्यों 
यह पूछे जाने पर कि 35 सेकंड की प्रतीक्षा क्यों की जाए तो सेंटर फार इन्फॉर्मेशन सिस्टम (सीआरआईएस) के प्रबंध निदेशक संजय दास ने कहा कि ऑनलाइन टिकट बुक करने के लिए यह न्यूनतम समय लगता है। हम इसे और लंबा नहीं कर सकते क्योंकि तब लंबी लाइन होगी जिसका कोई लाभ नहीं होगा। आईआरसीटीसी को सीआरआईएस साफ्टवेयर मुहैया कराती है।

एक साथ बुक होंगे पंद्रह हजार टिकट
आईआरसीटीसी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक मनोचा ने कहा कि हमने टिकटिंग साइट से हेरफेर रोकने के लिए कुछ सुरक्षा उपाय किए हैं। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही पर्याप्त निवेश से साइट को नयापन  दिया गया है ताकि प्रति मिनट 15 हजार टिकट बुक किए जा सकें।

58 फीसदी बढ़ी बुकिंग
सेवा में बाधा उत्पन्न करने के लिए साइट को हैक करने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर दास ने कहा कि अनधिकृत घुसपैठ या साइट की हैकिंग रोकने के लिए त्रुटिहीन व्यवस्था की गई है। रेलवे द्वारा बुक किए जाने वाले कुल टिकटों में ऑनलाइन टिकट बुकिंग बढ़कर 58 फीसदी हो गई है। आईआरसीटीसी ने सिस्टम को मजबूत करने के लिए पिछले पांच वर्षों में करीब 180 करोड़ रुपए खर्च किए हैं।

आम लोगों के लिए समय निर्धारित
आम लोगों के लिए स्लीपर क्लास का तत्काल टिकट बुक कराने का समय सुबह 10-11 बजे तक और एसी के तत्काल टिकट बुक कराने के लिए सुबह 11-12 बजे तक समय निर्धारित है। बामुश्किल दस से पंद्रह मिनट में सारी तत्काल टिकटें बुक हो जाती हैं। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक आईआरसीटीसी के अधिकृत एजेंट तत्काल की टिकटें बुक नहीं कर सकते हैं। मगर मोटे मुनाफे के चक्कर में धांधली करने वाले फर्जी ईमेल आईडी बनाकर टिकट बुक कर लेते हैं।

गलत ब्यौरा दिया तो रद्द हो जाएगा टिकट
तत्काल टिकट बुक करने में आ रही ऐसी दिक्कतों को देखते हुए अब आईआरसीटीसी ने तत्काल टिकट धारकों का सत्यापन करना शुरू किया है। इसमें टिकट धारक को फोन करके नाम, पते और फोन नंबर के अलावा जिस बैंक खाते से टिकट के लिए भुगतान किया गया है उसकी जानकारी, टिकट का मूल्य, पीएनआर नंबर, आईडी आदि के बारे में भी पूछा जा सकता है। ऐसे में यदि संबंधित व्यक्ति कोई भी सूचना गलत देता है तो उसकी टिकट रद्द कर दी जाएगी। इसके अलावा उसके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button