तमंचा नहीं प्लास को बनाया हथियार

कानपुर। तमंचा को छोड़कर एक युवक प्लास से अपराध करता था। प्लास के बहाने वह खुद को इलेक्ट्रीशियन दिखाने का नाटक करता था। उसको शक था कि तमंचा के सहारे वह पकड़ा जा सकता है। उसने सोचा कि प्लास से वारदात करने पर कोई शक भी नहीं करेगा और वह अपराध करता रहेगा लेकिन बर्रा पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

तमंचा

तमंचा को छोड़ प्लास को अपनाया

यह शख्स़ प्लास से महिलाओं पर हमला करता था और उन्हें लूट कर फरार हो जाता था। कानपुर की बर्रा पुलिस ने एक खुलासे के दौरान बताया कि पकड़े गए व्यक्ति का नाम श्यामू पासी है और यह बर्रा-5 का रहने वाला है।

मौका पाकर घर में घुसा

बर्रा-2 इलाके में रहने वाले कथावाचक सोमदत्त मिश्रा के घर बीते सात जनवरी को उनकी पत्नी सरिता के अलावा कोई नही था। शाम करीब चार बजे सोमदत्त किसी काम से लखनऊ गए थे, जबकि उनके दोनों बेटे कोचिंग पढ़ने गए थे। इसी दौरान सरिता के घर एक युवक यह कहकर अंदर घुस गया कि उसे उनके घर की बिजली ठीक करने के लिए पास के ही आकृति इलेक्ट्रॉनिक से भेजा गया है। जैसे ही सरिता ने दरवाजा खोला और अंदर गयी, वैसे ही उस युवक ने अपने साथ लाये प्लास से उन पर हमला बोल दिया और महिला द्वारा पहने गए जेवर लूट कर भाग गया। घटना के बाद पड़ोसियों और सरिता के रिश्तेदारों ने घायल महिला को निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। जिसके बाद पुलिस ने अज्ञात लूटेरे पर मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी थी।
प्लास भी हुआ बरामद
गोविंदनगर के सीओ ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि मुखबिरों और बर्रा पुलिस ने हुलिये के आधार पर बर्रा-5 में रहने वाले शान्ति शंकर के बेटे श्यामू पासी को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया है, जिसे महिला ने उसे पहचान भी लिया है। जिसके बाद इस शख्सर ने अपने सारे कारनामें कबूल कर लिए। पुलिस ने श्यामू के पास से सरिता की लूटी गयी चेन और घटना में इस्तेमाल किये गए प्लास को भी बरामद कर लिया है।

इलेक्ट्रीशियन बनकर करता था वारदात
सीओ के मुताबिक श्यामू स्मैक के नशे का लती है और अपने नशे के लिए ही इस तरह की घटनाओं को अंजाम देता था। श्यामू सिर्फ उन्हीं घरों को अपना निशाना बनाता था, जहां अकेली महिला होती थी और उनके यहां इलेक्ट्रीशियन बनकर वारदात को अंजाम देता था। फिलहाल पुलिस अब श्यामू के द्वारा पूर्व में की गयी अन्य वारदातों के बारे में पूछताछ कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button