तुर्की में धमाका, पांच की मौत

अंकारा। तुर्की में एक पुलिस मुख्यालय को निशाना बनाकर जोरदार धमाका किया गया है। तुर्की में धमाका इतना तेज था कि मौके पर ही पांच लोगों की मौत हो गई और कम से कम 36 लोगों गंभीर रूप से घायल हो गए। तुर्की के एक ग्रुप ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

तुर्की में धमाका

तुर्की में धमाका: पहली बार नहीं 

यह विस्फोट डायारबाकिर प्रांत के सिनार जिले में हुआ। मिली खबरों के मुताबिक मरने वालों में एक महिला और एक बच्चा भी शामिल है। बचाव दल घटनास्थल पर पहुंच गया है। मलबे से लोगों को निकालने की कोशिश की जा रही है। तुर्की में पहले भी कई बार धमाके हो चुके हैं।

पीकेके पर हमले का शक
तुर्की के अधिकारियों ने इस विस्फोट के लिए कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी (पीकेके) को जिम्मेदार बताया है। यह उग्रवादी संगठन मुख्य रूप से कुर्द प्रांत में सक्रिय हैं। हालांकि अभी तक किसी भी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। तुर्की मीडिया का कहना है कि यह बम विस्फोट पुलिस मुख्यालय की इमारत के प्रवेश द्वार पर किया गया था। विस्फोट इतना जोरदार था कि आस-पास के सभी आवासीय भवन भी क्षतिग्रस्त हो गए।

हमलावरों ने दागे रॉकेट
हमलावरों ने तो पुलिस मुख्यालय पर रॉकेट भी दागे थे। पिछले साल, डायारबाकिर और दक्षिण-पूर्व के अन्य इलाकों में बड़ी संख्या में सुरक्षा में सेंध लगाए जाने के मामले सामने आए थे। जिसके बाद इन हिस्सों में कर्फ्यू लगा दिया गया था।

पहले दो घटनाओं में 16 सैनिकों की मौत 
तुर्की के पूर्वी इलाके में पहले भी दो घटनाएं हुई थीं। एक घटना में 16 सैनिकों की मौत हो गई थी। जबकि बारूदी सुरंग के विस्फोट में 14 पुलिस अधिकारी भी मारे गए थे। सेना और पीकेके के बीच संघर्ष विराम जुलाई में टूट गया था, और तुर्की के विमानों ने उत्तरी इराक में पीकेके के ठिकानों पर बमबारी की थी।

आईएस को खत्म करने में तुर्की भी शामिल
तुर्की भी उस अमेरिकी नेतृत्व वाले गठबंधन का हिस्सा है, जो इराक और सीरिया में आईएसआईएस के आतंकवादियों के खिलाफ हवाई हमलों को अंजाम दे रहे हैं। हालांकि, अंकारा पर में ज्यादातर पीकेके को लक्ष्य बनाकर मारने का आरोप है, जबकि कुर्द खुद ही दो देशों में आईएस के खिलाफ लड़ रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button