दयाशंकर ने दी मायावती को चुनौती, कहा – मेरी पत्नी के खिलाफ चुनाव लड़ के दिखाएं

0

लखनऊ। बसपा सुप्रिमो मायावती को अपशब्द कहने वाले पूर्व भाजपा नेता दयाशंकर सिंह ने जेल से रिहा होने के बाद मायावती को फिर निशाना बनाया है। उन्होंने मायावती पर टिकट बेचने का आरोप लगाया। इसके साथ ही दयाशंकर ने यूपी के विधानसभा चुनाव में किसी सामान्य सीट पर उनकी पत्नी स्वाती सिंह के खिलाफ मैदान में उतने की मायावती को चुनौती दे दी है।  दयाशंकर सिंह ने बसपा प्रमुख के खिलाफ आरोपों की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है। मायावती के खिलाफ जनहित याचिका दाखिल करने की बात कही है।

दयाशंकर सिंह

दयाशंकर ने की संवादाता सम्मेलन

उन्हें एक स्थानीय अदालत से जमानत मिलने के एक दिन बाद आज मऊ जेल से रिहा कर दिया गया। उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने बिहार पुलिस की मदद से 29 जुलाई को सिंह को बक्सर जिले में गिरफ्तार किया था। सुबह जेल से रिहा होने के बाद दयाशंकर सिंह ने एक मंदिर में पूजा अर्चना की और उसके तुरंत बाद लखनऊ के लिए रवाना हो गए जहां उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि मैं अपने बयान पर दृढ़ हूं कि मायावती टिकट बेचती हैं। उस समय मैंने एक शब्द का उपयोग किया जिसको लेकर मैंने उसी दिन खेद जताया था।

दयाशंकर सिंह ने मायावती को अपनी पत्नी के खिलाफ किसी भी सीट से चुनाव लड़ने की चुनौती दी। उन्होंने कहा कि मैं मायावती को चुनौती देता हूं कि वह चुनाव लड़ने के लिये कोई भी सामान्य सीट चुन लें और मेरी पत्नी के खिलाफ चुनाव लड़ें। बसपा नेता को वास्तविकता का पता चल जाएगा। सिंह ने चुनावों में पार्टी टिकटों को कथित तौर पर ‘‘नीलाम’’ किए जाने की सीबीआई से जांच कराने की मांग की।

भाजपा से निकाले गये पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष ने कहा कि मेरी पार्टी ने मुझे पद से हटा दिया और मुझे निष्कासित कर दिया लेकिन इससे मायावती संतुष्ट नहीं हुयीं और मेरे खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज करायी गयी। उन्होंने कहा कि 21 जुलाई को वरिष्ठ बसपा नेताओं नसीमुद्दीन सिद्दिकी और राम अचल राजभर के नेतृत्व में बसपा कार्यकर्ताओं ने उनकी वृद्ध मां, नाबालिग बेटियों और पत्नी के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया।

loading...
शेयर करें