अमरावती का दोबारा दौरा कर धन्य हुआ : दलाई लामा

0

विजयवाड़ा।  तिब्बतियों के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने कहा कि वह अमरावती का दोबारा दौरा कर धन्य महसूस कर रहे हैं। वह आंध्र प्रदेश के तीन दिवसीय दौरे पर गुरुवार को यहां पहुंचे।राज्य विधानसभा के अध्यक्ष के.शिवप्रसाद राव, उनके मंत्री और वरिष्ठ अधिकारियों ने गन्नावरम हवाईअड्डे पर उनका स्वागत किया। जिसके बाद ये बौद्धों के पवित्र स्थल अमरावती के लिए रवाना हो गए। माना जाता है कि बुद्ध ने अपना पहला कालचक्र धर्मोपदेश यहीं दिया था।

दलाई लामा

दलाई लामा अमरावती का दोबारा दौरा कर धन्य महसूस किये

लामा (81) ने हवाईअड्डे पर संवाददाताओं से कहा, “मैं एक बार फिर इस पवित्र स्थल अमरावती आकर बहुत सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूं।”दलाई लामा ने कहा कि वह महान भारतीय बौद्ध दार्शनिक नागार्जुन के स्थान पर यहां आकर खुश हैं।उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश की राजधानी बनने जा रही अमरावती इसके लिए शुभ होगी।वह शुक्रवार को अमरावती में शुरू हो रहे पहली राष्ट्रीय महिला संसद को संबोधित करेंगे। यह दलाई लामा की अमरावती की दूसरी यात्रा है। वह 2006 में यहां कालचक्र पूजा शुरू कराने आए थे।

loading...
शेयर करें