खुलासा : दिग्विजय सिंह की वजह से गोवा में नहीं बन पाई कांग्रेस की सरकार

0

नई दिल्ली। गोवा में कांग्रेस की सरकार नहीं बन पाने का दोष जहां दिग्विजय सिंह बड़े नेताओं को दे रहे हैं वहीँ गोवा कांग्रेस अध्यक्ष लुइजिन्हो फलेरो ने इसका ठीकरा महासचिव दिग्विजय सिंह और गोवा स्क्रीनिंग कमिटी के चीफ केसी वेणुगोपाल पर फोड़ा है। उनका आरोप है कि इनकी वजह ही सरकार नहीं बन पाई।

दिग्विजय सिंह

दिग्विजय सिंह ने सही समय पर नहीं लिया फैसला

गोवा में कांग्रेस सीएम उम्मीदवारों के बीच झगड़े की बात को सिरे से नकारते हुए फलेरो ने कहा कि दिग्विजय सिंह ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा के बुलावे का इंतजार करने को कहा था। फलेरो ने कहा कि मैंने समर्थन पत्र का ड्रॉफ्ट तैयार कर लिया था ताकि राज्यपाल के पास इसे पेश कर सकूं लेकिन दिग्विजय ने कहा कि राज्यपाल के बुलावे का इंतजार करना चाहिए। इसलिए हम रूक गए।

फलेरो ने दावा किया 11 मार्च को चुनावी नतीजे आने के बाद देर रात तक हमारे पास एनसीपी विधायक सहित दो निर्दलियों का समर्थन मिल चुका था। हमें 21 विधायकों का समर्थन मिल गया था लेकिन हस्ताक्षर नहीं थे। उन्होंने कहा कि मैं किसी को दोषी नहीं ठहराना चाहता लेकिन दिग्विजय और वेणुगोपाल के पास निर्णय लेने का अधिकार था। 11 मार्च की रात में ही निर्णय होना चाहिए था।

वहीं goa में सरकार न बनने से नाराज विश्वजीत राणे ने महासचिव दिग्विजय सिंह पर हमला बोलते हुए कहा कि अब राजनीति छोड़ देनी चाहिए। राणे ने कांग्रेस पार्टी छोड़ने के एक दिन बाद कहा, ‘दिग्विजय को राजनीति से अब संन्यास ले लेना चाहिए। उन्होंने जिस तरह से अन्य कांग्रेसी नेताओें के साथ बड़ी गलती की है, उसे पार्टी को बहुमत के बावजूद (गोवा में) सरकार नहीं बनने के रूप में भुगतना पड़ा।

उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि दिग्विजय वास्तव में गोवा में कांग्रेसी सरकार बनाना चाहते थे या नहीं। उनके क्रियाकलापों को देखते हुए ऐसा नहीं लगता (कि उन्होंने कुछ किया)। आपको बता दें कि इधान्स्भा चुनाव में 17 सीटें जितने के बाद भी कांग्रेस सरकार नहीं बना पाई थी।

loading...
शेयर करें