अब हवा में घूमता नजर आएगा दिल्ली

0

नई दिल्ली। अब दिल्ली में लोग हवा में उड़ते नजर आएंगे और आसमान से ही दिल्ली का नजारा देख पाएंगे। दरअसल, हेलीकॉप्टर कंपनी पवनहंस के उड़नखटोले एक अप्रैल से दिल्ली में लोगों को क्षेत्रीय हवाई यात्रा का मौका देने वाले हैं। इसके शुरू होने के बाद से लोगों को न तो पर्यटक स्थानों का लुफ्त उठाने के लिए शनिवार-रविवार का इंतजार करना पड़ेगा और न ही लम्बी लम्बी लाइनों में धक्के खाने पड़ेंगे। अब लोग आसमान से ही दिल्ली में स्थित सभी स्थानों को देख सकेंगे।

दिल्ली दर्शन

दिल्ली दर्शन के लिए रोहिणी हेलीपोर्ट से खरीद सकते हैं टिकट

मिली जानकारी के अनुसार, लोगों की सहूलियत के लिए पवनहंस ने दो वर्गों की यात्राएं शुरू की है। पहली यात्रा 10 मिनट की होगी। इसमें यात्रियों को 2499 रुपए देने होंगे। वहीं, दूसरी यात्रा 20 मिनट की होगी। इसमें यात्रियों को 4999 रुपए देने होंगे। इसके लिए आपको ठीक दोगुने यानी 4999 रुपए खर्च करने होंगे।

दस मिनट की राइड में यात्री रोहिणी से उड़कर जापानी पार्क, यमुना, चंडीगढ़ हाईवे होते हुए पीतमपुरा के टीवी टावर के सामने से उड़ेंगे तो वहीं 20 मिनट की राइड में अगर आईजीआई से परमिशन मिली तो यात्री लाल किले से होते हुए अक्षरधाम को भी आसमानी उड़ान से देख सकते हैं।

साथ ही अब दिल्ली दर्शन हेलीयात्रा के लिए यात्री सीधे रोहिणी हेलीपोर्ट से टिकट खरीद सकते हैं, लेकिन आने वाले समय में टिकट जल्द ही या तो वेबसाइट से या फिर आवेदन के जरिए एडवांस टिकट बुक कर सकेंगे।

हेलीकॉप्टर कंपनी पवनहंस के अनुसार, रोहिणी हेलीपोर्ट हेलीकॉप्टर सेवाओं को जनता की पहुंच तक लाने के मकसद से बनाया गया है, लेकिन वहां तक पहुंचने में जनता को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इसलिए रोहिणी हेलीपोर्ट को जल्द ही आईजीआई हवाई अड्डे के टर्मिनल 3 से जोड़ा जा रहा है।

इसके लिए रोहिणी हेलीपोर्ट से हवाई अड्डे तक सीधी सड़क बनाई जा रही है। दो किमी के हिस्से पर अब भी निर्माण कार्य बाकी है। दरअसल, आईजीआई हवाई अड्डे में हेलीकॉप्टर की आवाजाही के लिए अब जगह नहीं बची है। इसीलिए रोहिणी हेलीपोर्ट में बनाया गया। फिलहाल दिल्ली इंदिरा गांधी एयरपोर्ट से 40-50 हेलीकॉप्टर उड़ते हैं।

loading...
शेयर करें