सावधान रहिये, अभी जारी रहेगी गलन

0

Delhi-Fog-AP-580x395-580x394नई दिल्ली/लखनऊ।  पहाड़ों पर बर्फ गिरने के कारण अभी तक चल रही गुनगुनी सर्दी अब गलन में तब्दील हो गई है। दिन में धूप जरूर निकल रही है लेकिन वह कंपकपी कम करने में नाकाफी साबित हो रही है। जम्‍मू-कश्मीर में बर्फबारी से पारा और गिर गया है। घाटी में तापमान 3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसका असर दिल्ली तक दिखा और राजधानी में मौसम का अब तक का सबसे सर्द दिन रहा। दिल्ली में न्यूनतम तापमान गिरकर 6 डिग्री रहा।

उत्तर प्रदेश भी ठिठुरा

उत्तर प्रदेश के सभी स्थानों में भी गलन और बर्फीली हवाओं ने लोगों को ठिठुरने पर मजबूर कर दिया है। लखनऊ में रविवार को अधिकतम टेम्परेचर तीन डिग्री गिर कर 19.6 डिग्री और न्यूनतम टेम्परेचर चार डिग्री गिरकर 7.3 हो गया है। मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता के अनुसार दिन में धूप तो निकलेगी लेकिन गलन जारी रहेगी।

क्‍या रहा हिमाचल का हाल

हिमाचल प्रदेश में भी बर्फबारी के कारण न्यूनतम तापमान जीरो डिग्री से नीचे पहुंच गया। मनाली में पारा शून्य से तीन डिग्री नीचे रहा। राजधानी शिमला में पारा गिरकर 3.1 डिग्री तक पहुंच गया। रात का तापमान 3.4 डिग्री दर्ज किया गया। पास के सैलानी इलाकों कुफरी, फागु घाटी और नारकंडा में बर्फबारी से ठिठुरन बनी रही।

राजस्थान, हरियाणा, चंडीगढ़ में शीतलहर

मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली, चंडीगढ़ के अलावा राजस्थान और हरियाणा के कई इलाकों में सोमवार को शीतलहर का सामना करना पड़ सकता है। यहां तापमान सामान्य से डेढ़ से दो डिग्री कम रहा। वहीं, जम्मू-कश्मीर के कुछ इलाकों में हल्की बारिश की संभावना है। अगले दो दिन में कोहरे की भी चेतावनी है।

लद्दाख में पारा शून्य से 2 डिग्री कम

जम्मू-कश्मीर राज्य की कश्मीर घाटी में शीतलहर और ठिठुरन रही। लद्दाख क्षेत्र के लेह इलाके में तापमान शून्य से 12.1 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। श्रीनगर में न्यूनतम पारा शून्य से 0.8 डिग्री और गुलमर्ग में शून्य से 9.2 डिग्री नीचे रहा। मौसम विभाग के मुताबिक रात में आसमान साफ रहेगा, जिससे न्यूनतम तापमान में गिरावट होगी।

इन बातों का रखें ध्यान-

सर्दियों में सुबह-सुबह ब्लड प्रेशर ज्यादा होता है। इसलिए ब्लड प्रेशर के मरीजों को चाहिए कि वह अपने डॉक्टर के संपर्क में बने रहें।
सर्दियों में दिल के दौरे भी अधिक पड़ते हैं, इसलिए सुबह-सुबह सीने में होने वाले दर्द को नजरअंदाज न करें।
सर्दियों में ज्यादा मीठा, कड़वा और नमकीन खाने से परहेज करें।
अपने डॉक्टर से निमोनिया और फ्लू की वैक्सीन के बारे में पूछना चाहिए।
बहुत छोटी उम्र और उम्रदराज लोगों के निमोनिया सर्दियों में जानलेवा हो सकता है। ज्यादा खतरे वाले लोगों खास कर दमा, डायबिटीज और दिल के रोगों से पीड़ित लोगों को फ्लू का वैक्सीन जरूर दिलाएं।
सर्दियों में बंद कमरों में हीटर चला कर सोने से बचें।
गीजर सहित सभी बिजली यंत्रों की अर्थिग की जांच करवाएं।
मीठे पकवान बनाते समय चीनी का प्रयोग करने से बचें।
एक तापमान से दूसरे तापमान में जाने से पहले अपने शरीर को संतुलित तापमान पर ढलने का समय दें।
विटामिन ‘डी’ अच्छी सेहत के लिए बेहद जरूरी है। हर व्यक्ति को हर रोज सुबह 10 बजे से पहले और शाम 4 बजे के बाद कम से कम 40 मिनट धूप में जरूर बिताएं।

loading...
शेयर करें