दिल्ली : IIT स्टूडेंट ने की खुदकुशी, सुसाइड नोट में किया हैरान करने वाला खुलासा, पुलिस भी परेशान

नई दिल्ली। 21 साल के दिल्ली आईआईटी के स्टूडेंट नारू गोपाल मालो ने अपने हॉस्टल के कमरे में खुदकुशी कर ली। मरने से पहले गोपाल ने एक सुसाइड नोट छोड़ा है जिसमें उसने अपनी मौत का जिम्मेदार मामा और मौसी के लड़के को ठहराया है। फिलहाल पुलिस सुसाइड नोट के आधार पर आगे की जांच कर रही है।

आईआईटी के स्टूडेंट

सुसािड नोट में गोपाल ने लिखा है कि जब वह 11 साल का था, तब से उसका मामा और मौसी का लड़का उसके साथ यौनाचार करते थे। यही नहीं वह दोनों बार-बार उसे बंगाल आने के लिए परेशान करते थे। उसने लिखा है वह दोनों के यौनाचार से परेशान होकर खुदकुशी कर रहा है।

पुलिस के मुताबिक, गोपाल बंगाल के हुबली का रहना वाला है। वह दिल्ली आईआईटी से एमएसई केमेस्ट्री प्रथम वर्ष का छात्र था। मालो नीलगिरी हॉस्टल के कमरा नंबर डी 5 में दो साथियों के साथ रह रहा था। शुक्रवार सुबह करीब 8:05 बजे आईआईटी प्रशासन ने इस बात पुलिस को सूचना दी कि छात्र ने अपने कमरे में पंखे से लटककर खुदकुशी कर ली है। सूचना के बाद मौके वसंत विहार थाने की पुलिस भी पहुंच गई। उसे पंखे से उतार तुरंत सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा उसके भाई को सौंप दिया है।

नीलगिरी होस्टल का कमरा नंबर डी-5 में तीन बिस्तर लगे हैं। बीच के बिस्तर पर गोपाल मालो सोता था। ऐसे में गुरुवार रात जब उसके साथ रहने वाले दोनों दोस्त नहीं सो रहे थे, तो उसने दोनों को सोने के बहाने कमरे से बाहर कर दिया और अंदर से गेट बंद कर लिया। गोपाल के दोनों दोस्त रातभर बाहर ही सोए और सुबह करीब सात बजे कमरे पर पहुंचे। कई बार खटखटाने पर जब गोपाल ने गेट नहीं खोला तो एक दोस्त ने खिड़की से अंदर देखा तो गोपाल पंखे से लटका हुआ था। जिसके बाद उसने तुरंत सुरक्षाकर्मियों को सूचना दी। सुरक्षाकर्मियों ने युवकों की सूचना को पुख्ता कर मामले की जानकारी पुलिस को दी।

Related Articles

Back to top button