केजरीवाल के लिए नई मुसीबत लेकर आए स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्येंद्र जैन

0

नई दिल्‍ली। आम आदमी पार्टी में लगता है कभी कुछ सही नहीं होगा। हर दिन इस पार्टी के एक विधाय‍क पर नई आफत आती है। इस बार दिल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन पर मुसीबत आन पड़ी है। स्‍वास्थ्‍य मंत्री हवाला के मामले में चर्चा में बने हुए हैं।

दिल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन

दिल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन को मिली नोटिस

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन हवाला के एक मामले में घि‍र गए हैं। इनकम टैक्स विभाग ने हवाला के जरिए 17 करोड़ रुपये ट्रांसफर करने के मामले में नोटिस भेजा है। हालांकि जैन ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी उनके बचाव में उतर आए हैं।

चार अक्‍टूबर को पेश होने को कहा

इनकम टैक्स विभाग ने सत्येंद्र जैन को समन जारी कर इस मामले में चार अक्टूबर को पेश होने के लिए कहा है। सूत्रों के मुताबिक, इनकम टैक्स विभाग के पास इस बात के पूरे सबूत हैं कि जैन ने पिछले पांच सालों में अपनी चार कंपनियों हवाला के तहत पैसे भिजवाए और फिर अपनी कंपनियों के नाम से चेक लिए। बाद में इससे अनाधिकृत कॉलोनियों के पास जमीनी खरीदी गई।

हवाला के आरोप बेबुनियाद

इन आरोपों पर दिल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने कहा कि मुझे गवाह की तरह बुलाया गया है। कोई हवाला नहीं हुआ है। कुछ कंपनियों का रिअसेस्मेंट हो रहा है। उन कपंनियों में 4-5 साल पहले मेरी इन्वेस्टमेंट थी। जो इनकम टैक्स वाले पूछना चाहते हैं, उन्हें बता दूंगा। जैन ने कहा कि जब वो पहली बार चुनाव लड़े थे, तभी इन कंपनियों से अलग हो गए थे।

जैन ने कहा, 17 करोड़ की बात बकवास है

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 17 करोड़ की बात बिल्कुल बकवास है। मेरा कोई ट्रांजेक्शन नहीं है। उन्होंने कहा, ‘2 दिन बाद मुख्यमंत्री विधानसभा में बड़ा खुलासा करेंगे। जिन चैनल में हिम्मत हो, दिखाए.’ सत्येंद्र जैन ने कहा कि आईटी पूछताछ नहीं कर रहा, असेस्मेंट कर रहा है। मुझे जो कहना है, पहले आईटी को बताऊंगा, फिर आपको।

NEW DELHI, INDIA - JUNE 15: Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal addressing a press conference on the issue of Parliamentary Secretary on June 15, 2016 in New Delhi, India. Delhi chief minister attacked the Narendra Modi-led government, asking the BJP and Congress why they were questioning the AAP government for appointing MLAs as parliamentary secretaries when they had made similar appointments in the past. President Pranab Mukherjee refused to sign a bill that allowed 21 Aam Aadmi Party MLAs to hold a second paying position as parliamentary secretary. (Photo by Sonu Mehta/Hindustan Times via Getty Images)

 

केजरीवाल बोले- शुक्रवार को विधानसभा में बड़ा खुलासा करूंगा

सत्येंद्र जैन के लिए बड़ी राहत की बात यह है कि केजरीवाल पूरी तरह उनका सपोर्ट कर रहे हैं। केजरीवाल ने ट्वीट किया कि मैंने सुबह सत्येंद्र को तलब किया था। सारे कागजात देखे। वो बेकसूर हैं। अगर वो दोषी पाए जाते हैं तो हम उन्हें बाहर कर देंगे। हम उनके साथ खड़े हैं। केजरीवाल ने एक और ट्वीट किया, ‘AAP विधायकों और मंत्र‍ियों के खिलाफ फर्जी केस बनाए गए। मेरे खिलाफ एफआईआर हुई, सीबीआई ने छापेमारी की- क्यों? ये बड़ी साजिश है।

loading...
शेयर करें