टल्ली दूल्हे को देख भड़क उठी दुल्हन और फिर…

0

कानपुर। अब बेटियां जाग चुकी हैं। वह माता-पिता द्वारा जिस खूंटे से चाहे बाँध दें, वाली प्रथा के खिलाफ मुखर हो चुकी हैं। वह अपने जीवन साथी को लेकर संजीदा हो रही हैं। इसका उदाहरण महाराजपुर क्षेत्र में देखने को मिला। जहाँ एक दुल्हन ने दूल्हे के टल्ली होने पर बारात समेत उसे वापसी का रास्ता दिखा दिया। वहीं दूसरी शादी में दुल्हन ने दूल्हे के काले होने पर सवाल खड़ा कर दिया।

दुल्हन

पहला मामला महराजपुर थाना क्षेत्र के दीपपुर गांव का है। यहां घाटमपुर के पालपुर में लालाराम के पुत्र धीरेन्द्र की बारात आई थी। जयमाल के समय दुल्हन जब दूल्हे के करीब पहुंची तो उसे दूल्हे के मुंह से शराब की तेज बदबू का एहसास हुआ। उसने दूल्हे की ओर देखा तो वह नशे में था। इस पर दुल्हन भड़क उठी और उसने जयमाल फेंक दी। जब लोगों ने जयमाल फेंकने का कारण पूंछा तो उसने बताया कि दूल्हा नशे में है। इसके बाद दुल्हन बगैर जयमाल डाले ही वापस लौट गई। मामला बिगड़ते देख लड़के वाले लड़की पक्ष वालों को समझाने का प्रयास करते रहे। लेकिन बात नहीं बनी। सूचना पाकर पुलिस भी पहुंची। पुलिस ने बताया कि दूल्हा के नशे में होने और उम्र दराज होने की बात सामने आई है। फिलहाल दूल्हे को बारात के साथ बैरंग वापस लौटना पड़ा।

इसी तरह इसी क्षेत्र के पतारी गांव के किसान गंगाधर की बेटी माया की बारात फतेहपुर जनपद के बनियनखेड़ा से आई थी। जयमाल के समय दूल्हे को दुल्हन ने देखा तो उसका काला रंग देखकर उसने शादी से इनकार कर दिया। फिर जब दोनों पक्षों ने दुल्हन को समझाया तो वह शादी के लिए राजी हुई। लेकिन बाद में चढ़ावे में आये जेवर नकली होने पर फिर हंगामा हुआ। जब लड़के के पिता ने चौथी में असली जेवरों के साथ दुल्हन को भेजने की बात कही, तब शादी हो सकी।

loading...
शेयर करें