देहरादून में रईसजादे की काली करतूत

देहरादून। राजधानी देहरादून में नशे में वाहन चलाने के खिलाफ चल रहे अभियान के दौरान तीन युवक सीपीयू कांस्टेबल से भिड़ गए। गाली-गलौज और धमकी देने के मामले में मुकदमा दर्ज कर तीनों को ही जेल भेज दिया गया है। इनमें से एक युवक जिला पंचायत सदस्य का बेटा भी बताया गया है। बता दें कि देहरादून में चल रहे अभियान के तहत ही सिटी पेट्रोल यूनिट (सीपीयू) के जवान मंगलवार रात देहरादून के घंटाघर क्षेत्र में एल्कोमीटर से वाहन चालकों की चेकिंग कर रहे थे। एसपी ट्रैफिक धीरेंद्र गुंज्याल के निर्देश पर एक तेज रफ्तार मर्सिडीज कार को रोका गया। काले रंग की मर्कासिडीज कार का चालक आदेश चौहान नशे में धुत पाया गया तो सीपीयू उसे लेकर कोतवाली पहुंच गई। यहां किसी बात पर कार सवार दो युवक सीपीयू के जवान से ही भिड़ गए। हंगामा होने पर मौके पर भारी भीड़ जमा हो गयी। शहर कोतवाली निरीक्षक एसएस बिष्ट ने मौके पर आकर बड़ी मुश्किल से स्थिति को संभाला।

ये भी पढ़ें – पासपोर्ट की तरह अब ड्राइविंग लाइसेंस में भी तत्काल स्कीम

देहरादून 2

देहरादून के हाई प्रोफाइल परिवार से हैं तीनों

पहले तो युवकों का पुलिस एक्ट में चालान किया गया। बाद में सीपीयू कांस्टेबल हरीश जोशी ने तीनों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालने और गाली-गलौज कर धमकी देने की तहरीर दी। इस पर पुलिस ने तीनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। मंगलवार को ही तीनों का चालान भी कर दिया गया। आरोपी आदेश चौहान का कहना है कि चालान करने के बाद आपत्तिजनक टिप्पणी का साथियों ने विरोध किया था। इसी बात से ताव में आए कांस्टेबल ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।

ये भी पढ़ें – ड्राइविंग: मोबाइल से ज्यादा खतरनाक हैं हैंड्सफ्री!

देहरादून 3

सीएम भी दे चुके हैं कड़े निर्देश

हाल ही में रैश ड्राइविंग और नशा तस्करी को रोकने में नाकाम पुलिस की मुख्यमंत्री हरीश रावत ने जमकर क्लास लगाई थी। उन्होंने पुलिस को चेतावनी देते हुए कहा था कि रैश ड्राइविंग और नशा तस्करी पर जल्द रोक नहीं लगी तो वह खुद अधिकारियों के खिलाफ एक्शन लेंगे। सीएम ने कहा कि युवा पीढ़ी को बचाने में किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस दौरान उन्होंने पुलिस अधिकारियों को कई सुझाव भी दिए थे। सीएम की सख्ती का असर देहरादून में दिखाई दे रहा है और उसी के बाद पुलिस ने रैश ड्राइविंग और नशे में गाड़ी चलाने वालों के खिलाफ अभियान शुरु किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button