#upelection2017 : BJP की मांग, 6 बूथों पर हो दोबारा मतदान

लखनऊ। बीजेपी ने पहले चरण के मतदान में कई बूथों पर दोबारा मतदान की मांग की है। मुख्य चुनाव आयुक्त को भेजे पत्र में बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर और कुलदीप पति त्रिपाठी ने शिकायत की है कि छपरौली विधान सभा के बूथ नंबर 35, 36, 37 पर आरएलडी ने कब्जा किया। वहीं, बड़ौत के बूथ नंबर 115, शिकोहाबाद के बूथ नंबर 192 पर कब्जा और खेरागढ़ के बूथ नंबर 197 पर बीएसपी समर्थकों द्वारा कब्जा किए जाने की शिकायत की गई है। साथ ही सुरक्षा बढ़ाए जाने की मांग भी आयोग से की है।

दोबारा मतदान की मांग

दोबारा मतदान की मांग के लिए चुनाव आयुक्त से अपील

गौरतलब है कि यूपी में विधानसभा चुनाव के पहले चरण में बंपर वोटिंग हुई है। पहले चरण में 73 सीटों के लिए वोट डाले गए। सुबह 8 बजे वोटिंग शुरू होने के बाद कई मतदान केंद्रों पर वोटर्स की लंबी-लंबी कतारें देखने को मिली। चुनाव आयोग के अनुसार 64.22% वोटिंग हुई है। शाम 5 बजे तक वोटिंग हुई लेकिन जो वोटर्स उस समय पोलिंग बूथों पर कतारों में लग चुके थे, उन्हें वोट देने का मौका दिया गया। 2012 के विधानसभा चुनाव में 61 प्रतिशत वोटिंग हुई थी। चुनाव आयोग ने बताया कि पहले चरण में 64.22 प्रतिशत वोटिंग हुई है।

पहले चरण के दौरान बड़ी तादाद में कैश और शराब की जब्ती हुई। चुनाव आयोग के मुताबिक इस दौरान 19.56 करोड़ रुपये नकद पकड़े गए जबकि 4.4 लाख लीटर शराब पकड़ा गया जिसकी कीमत करीब 14 करोड़ रुपये हैं। इसके अलावा 96.93 लाख के मादक पदार्थ, 14 करोड़ के सोने-चांदी जब्त किए गए। चुनाव आयोग ने बताया कि पहले चरण के दौरान पेड न्यूज के 13 मामले सामने आए जिनमें 10 की पुष्टि हुई। दोपहर 3 बजे तक सबसे ज्यादा वोटिंग दादरी में हुई, जहां 56 प्रतिशत वोटर्स अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर चुके थे। दोपहर 3 बजे तक मुजफ्फरनगर और शामली में 54-54 प्रतिशत, मेरठ में 55, जेवर में 51, टूंडला में 53 और अलीगढ़ में 51, हाथरस में 50 प्रतिशत वोटिंग हुई।

पहले चरण में जिन क्षेत्रों में वोट डाले गए, वहां के कई मुद्दे राष्ट्रीय स्तर पर चर्चित हुए थे। बात चाहे बुलंदशहर रेपकांड की हो या मथुरा के जवाहरबाग कांड की, या दादरी के बिसाहड़ा में गोहत्या के शक में भीड़ द्वारा पीट-पीटकर मार डाले गए इखलाक की, ये सभी मुद्दे राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा में रहे थे। इसके अलावा कैराना से हिंदुओं के कथित पलायन का मुद्दा भी सुर्खियों में रहा था।

Edited by- Jitendra Nishad

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button