अब दोस्ती करना भी आसान और निभाना भी…बस लाने होंगे ये बदलाव

0

कहते हैं कि दोस्ती करना तो आसान है लेकिन निभाना बहुत मुश्किल, क्योंकि कभी-कभी दोस्तों की छोटी-छोटी बातें इतनी बड़ी चोट कर जाती हैं कि रिश्तों में दरार आ जाती है। हालांकि यह भी सच है कि कभी ताली एक हाथ से नहीं बजती। अगर आपकी दोस्ती के रिश्ते में दरार आ गई है तो कहीं-कहीं आप भी जिम्मेदार होते हैं। लेकिन अगर हम चाहे तो हमेशा दोस्ती कायम भी और पुराने समय से चली आ रही कहावत (दोस्ती निभाना मुश्किल होता है) गलत साबित हो जाए।

आइए आज हम आपको बताते हैं कि आप अपनी दोस्ती के रिश्ते को कैसे हमेशा जिन्दा रख सकते हैं…अगर आप इन तरीकों को आजमाएंगे तो न सिर्फ आपका रिश्ता और गहरा होगा बल्कि ताउम्र बना भी रहेगा।

दोस्ती कायम

दोस्ती कायम रखने के लिए आपको अपने अन्दर लाना होगा ये बदलाव

अगर आपको अपनी दोस्ती कायम रखनी है तो सबसे पहले आपको अपनी लाइफ में सहनशीलता लानी होगी। जी हां, दो दोस्तों के बीच में लड़ाई होने का मुख्य कारण होती हैं कड़वी बातें। जब ये कड़वी बातें बर्दाश्त नहीं होती तभी रिश्तों के बीच दूरियां बढ़ जाती है। इसलिए अगर आप दोस्तों की कड़वी बातों को भी हंसकर टालना सीख जायेंगे तो आपका रिश्ता अजर अमर हो जायेगी।

ऐसे ही अगर आप दोस्तों की गलतियां माफ़ करना सीख गए तो समझो आपकी दोस्ती की लाइफ बढ़ गई। अगर आप अपनी दोस्ती को मजबूत बनाएं रखना चाहते है तो अपने पार्टनर की छोटी-छोटी गलतियों को माफ करें और उसे समझने की कोशिश करें।

कोई भी रिश्ता हो वो विश्वास पर टिका रहता है फिर चाहे वह दोस्ती का रिश्ता हो या फिर प्यार का। इसलिए दोस्ती के रिश्ते में भी विश्वास की अहम् जगह होती है। अगर आप अपनी दोस्ती कायम रखना चाहते हैं तो फिर कभी भी अपने दोस्त को ऐसी ठेस न पहुंचाए जिससे उसका भरोसा टूट जाए और आपकी दोस्ती।

loading...
शेयर करें