दो दिन के दौरे पर लद्दाख पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गन मशीन चला दिया बड़ा संदेश

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार को दो दिवसीय दौरे पर लद्दाख पहुंच गए है।  इस दौरान वो लद्दाख और जम्मू-कश्मीर की यात्रा करेंगे। रक्षा मंत्री  के साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी  गए है। शुक्रवार को सभी लद्दाख का दौरा करेंगे और शनिवार को जम्मू-कश्मीर का दौरा करेंगे।

रक्षा मंत्री एलएसी पर सुरक्षा हालात का जायजा लिया और जवानों का हौसला बढ़ाया। रक्षा मंत्री की मौजूदगी में भारतीय सेना के जवानों ने अभ्यास किया। इस दौरान रक्षा मंत्री ने मशीन गन भी चलाई। लेह में रक्षा मंत्री ने मशीन गन चलाकर चालबाज चीन को चेतावनी दी। मशीन गन चलाने में  सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने  रक्षा मंत्री की मदद की। राजनाथ सिंह पूर्वी लद्दाख के गलवन में चीनी सैनिकों से हुई खूनी झड़प में घायल हुए जवानों से भी मुलाकात करेंगे।

दो दिवसीय यात्रा पर रवाना होने से पहले राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं सीमाओं पर स्थिति की समीक्षा करने और क्षेत्र में तैनात सशस्त्र बल के जवानों के साथ बातचीत करने के लिए जा रहा हूं। रक्षा मंत्री सुबह में पैंगोंग लेक के पास लुकुंग पोस्ट पहुंचे। फिर लेह एयरपोर्ट पर वायुसेना कर्मियों से बातचीत करेंगे और सुबह 11.30 बजे श्रीनगर के लिए रवाना हो जाएंगे।

रक्षा मंत्री कश्मीर में सुरक्षा हालात की भी जानकारी लेंगे। इस समय कश्मीर में आतंकवादियों पर कड़े प्रहार कर स्थायी शांति कायम करने की कोशिश सतत जारी है। सेना की पंद्रह कोर मुख्यालय श्रीनगर में रक्षा मंत्री अधिकारियों से बैठक करेंगे। इसमें वह आतंकवादियों के खिलाफ अभियान व गोलाबारी कर रहे पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए उठाए जा रहे कदमों जानेंगे। इसके बाद वह दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

बता दें कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इससे पहले 3 जुलाई को लद्दाख दौरे के लिए रवाना होने वाले थे। लेकिन अचानक उनकी यात्रा रद्द हो गई थी और प्रधानमंत्री मोदी 3 जुलाई को लेह जिले के नीमू इलाके पहुंच गए थे। वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत और चीन की सेनाओं के बीच 5 मई को हुए गतिरोध के बाद रक्षा मंत्री की यह पहली लद्दाख यात्रा है।

Related Articles