नक्सली पति ने आत्मसमर्पण करने से किया इनकार, तो पत्नी ने कर ली आत्महत्या

कोंडागांव। छत्तीसगढ़ के कोंडागांव जिले से एक ऐसी घटना सामने आई है जिसको सुनकर किसी के भी होश उड़ जाएंगे. दरअसल, यहां एक नक्सली की पत्नी ने जहर पीकर आत्महत्या कर ली। सरकार की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर महिला नक्सलवाद का दामन थाम चुके अपने पति से समर्पण करवाना चाहती थी। जब उसके पति ने समर्पण से इनकार किया तो उसने आत्महत्या कर ली।

यह घटना मदार्पाल थाना क्षेत्र के ग्राम नेड़वाल में 26 मई को हुई। घटना की पुष्टि करते हुए पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लवा ने कहा कि ग्राम नेड़वाल क्षेत्र में रमेश कोर्राम गोलावांड एलओएस का सक्रिय नक्सली है। उस पर मदार्पाल थाना में कई नामजद मामले भी दर्ज हैं।

उन्होंने कहा कि नक्सल संगठन में रहते हुए वह परिवार से दूर हो चुका है। इस कारण नक्सली की पत्नी सोनमती सोरी (30) परेशान रहा करती थी। सोनमती की जब भी रमेश से मुलाकात होती थी तो वह उसे नक्सलवाद छोड़कर समर्पण करने के लिए कहती थी। लेकिन वह पत्नी की बात अनसुनी कर दिया करता था, जिस कारण दोनों के बीच कलह भी होने लगी।

पति को बार-बार समर्पण के लिए मनाने से नहीं मानने पर आखिरकार नक्सली की पत्नी ने 26 मई को जहर पीकर आत्महत्या कर ली। मर्दापाल थाना पुलिस मर्ग कायम कर मामले की विवेचना कर रही है।

Related Articles