फ‍िर टूटा नक्‍सलियों का कहर, इस बार भी रहे बेखौफ

0

बालाघाट| मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले में मंगलवार देर शाम नक्‍सलियों का आतंक टूट पड़ा।  नक्सलियों ने वन कर्मियों के साथ मारपीट की और बांस लदे पांच ट्रकों को आग के हवाले कर दिया। बालाघाट परिक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक डी. सी. सागर ने बुधवार को कहा, “मंगलवार को धीरी-मुरुम क्षेत्र से बांस लदे ट्रक निकल रहे थे, तभी नक्सलियों का आतंक टूट पड़ा।” पांच ट्रकों को रोक कर आग लगा दी। नक्सलियों का कहना था कि उन्होंने वन विभाग के कर्मचारियों से रसद सामग्री आदि की मांग की थी, जो नहीं आई, लिहाजा वह इस वारदात को अंजाम दे रहे हैं।”

नक्‍सलियों का आतंक आगजनी, तोड़फोड़ के रूप में सामने आया

सागर ने बताया है कि बांस की ढुलाई लगभग पूरी हो चुकी थी और अंतिम पांच ट्रक शेष रह गए थे, जिन्हें नक्सिलयों ने आग के हवाले कर दिया। उन्होंने कहा कि वन विभाग के कर्मचारियों ने पुलिस को रसद मांगने संबंधी सूचना दे दी होती तो पुलिस कार्रवाई कर सकती थी, मगर ऐसा हुआ नहीं।वनकर्मियों ने बुधवार को संवाददाताओं को बताया कि उन्हें वाहनों से उतार कर पीटा गया और उसके बाद नक्सनियों ने ट्रकों की टंकियां तोड़ दी और वाहनों पर डीजल डाल कर आग लगा दी।

घटना की चश्मदीद महिला सोना बाई ने संवाददाताओं को बताया कि नक्सली 15 से 17 की संख्या में थे और उन्होंने कर्मचारियों से मारपीट कर ट्रकों को आग लगा दी। सागर ने कहा, “जिस स्थान पर यह वारदात हुई है, वह जंगल के बीच का इलाका है। पुलिस छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव व महाराष्ट्र की गोंदिया से जुड़े बालाघाट के क्षेत्र में चौकी स्थापित करने के प्रयास कर रही है, ताकि समय रहते आवश्यक कार्रवाई की जा सके। इस घटना के बाद पुलिस की गश्त बढ़ा दी गई है।”

बालाघाट में नक्‍सलियों का आतंकवाद और वारदातें लगातार बढ़ रही हैं। इससे पहले एक युवक की मुखबिरी के शक में हत्या की गई थी। इसके अलावा एक ट्रक और उसके बाद दो जेसीबी मशीनों को नक्सलियों ने आग के हवाले कर दिया था।

loading...
शेयर करें