खुलासा: जंग को इस्ताफा देने के लिए बीजेपी और आप ने किया मजबूर

0

नई दिल्ली । कांग्रेस ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और आम आदमी पार्टी (आप) के बीच दिल्ली के उप राज्यपाल नजीब जंग को हटाने के लिए समझौता हुआ है। कांग्रेस ने कहा है कि यह दोनों पार्टियां शुंगलू समिति की रिपोर्ट को जारी करने के खिलाफ थीं। पार्टी का दावा है कि इस रिपोर्ट के जारी होने से पंजाब और गोवा में होने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को फायदा पहुंचता।

नजीब जंग

नजीब जंग को इस्ताफा देने के लिए बीजेपी और आप ने किया मजबूर 

एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए दिल्ली कांग्रेस के प्रमुख अजय माकन ने दावा किया कि नजीब जंग इस वजह से हट गए क्योंकि उन्हें रिपोर्ट जारी करने की इजाजत नहीं दी गई।

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार से जुड़ी 200 फाइलों में गंभीर अनियमितता के आरोप थे। उप राज्यपाल पर रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं करने के लिए दवाब डाला जा रहा था। वह इसे सोमवार को जारी करने वाले थे। चूंकि उन्हें रिपोर्ट को सार्वजनिक करने से रोका गया, इसलिए उन्होंने इस्तीफे का रास्ता चुना।

माकन ने कहा कि रिपोर्ट 27 नवम्बर को उप राज्यपाल को सौंपी गई, लेकिन यह तीन हफ्तों के बाद भी सार्वजनिक नहीं की गई। जंग ने आप सरकार द्वारा लिए गए फैसलों से जुड़ी 400 फाइलों को देखने के लिए पूर्व नियंत्रक और महालेखा परीक्षक वी.के. शुंगलू की अध्यक्षता में तीन सदस्यों की समिति बनाई थी।

loading...
शेयर करें