IPL
IPL

नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रि‍यों से मांगा रिपोर्ट कार्ड, कैबिनेट में हो सकते हैं फेरबदल

नरेंद्र मोदीनई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 63 मंत्रि‍यों से उनके कामकाज का रिपोर्ट कार्ड मांगा है। इसकी व्‍यापक समीक्षा के लिए मोदी ने 27 जनवरी को मंत्रि‍परिषद की मीटिंग बुलाई है। बताया जा रहा है कि इस मीटिंग के दौरान सभी मंत्रि‍यों के कामकाज की समीक्षा की जाएगी।

नरेंद्र मोदी कर सकते हैं कैबिनेट में फेरबदल

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 27 जनवरी के बाद कैबिनेट में फेरबदल की भी संभावना है। आपको बता दें कि यूपी में 2017 होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कुछ दिनों पहले पीएम मोदी से मुलाकात की थी। इस मीटिंग में दोनों के बीच कैबिनेट में किए जाने वाले बदलावों पर चर्चा हुई थी।

पहली बार लेंगे रिव्‍यू मीटिंग

इस मीटिंग के दौरान पीएम मोदी अपने स्पीच में सरकार की परफॉर्मेंस के बार में बताएंगे। इसके बाद वह अपने हर सीनियर मंत्री से उनकी रिपोर्ट मांगेंगे। इससे पता चलेगा कि खास फैसलों पर मंत्रालय का परफॉर्मेंस कैसा रहा है और उनको लागू करने में उनके सामने कैसी बाधाएं आई हैं। यह भाजपा सरकार के मई 2014 में सत्ता संभालने के बाद उसके पूरी मंत्रिपरिषद की अपने तरह की पहली रिव्यू मीटिंग है।

सभी मंत्री होंगे मौजूद

अगले हफ्ते होने वाली इस मीटिंग में सभी 25 कैबिनेट मंत्री, 13 स्वतंत्र प्रभार वाले राज्यमंत्री और 25 राज्यमंत्री मौजूद होंगे। सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री कृषि क्षेत्र की दिक्कतों, देश के कई इलाकों में बनी सूखे की स्थिति, मौजूदा कारोबारी सेंटिमेंट और ग्रामीण अर्थव्यवस्था की हालत को लेकर फिक्रमंद हैं।

मंत्रालय अपनी उपलब्धियों और कैबिनेट के अहम फैसलों में अपनी प्रगति की सूची तैयार करने में व्यस्त हैं। सीनियर मंत्री के हर फैसले का एक छोटा सा पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन दिया जाएगा। मीटिंग में मंत्री ऑफ स्टेट को भी बुलाया गया है लेकिन उनका काम सिर्फ सीनियर मंत्री को असिस्ट करना होगा। उनको अलग से प्रेजेंटेशन नहीं देना होगा।

कामकाज का जायजा लेने की कवायद में प्रधामंत्री ऑफिस का इंडिपेंडेंट इनपुट भी होगा। पीएमओ योजनाओं की प्रगति पर करीब से नजर रखता रहा है। एक अंग्रजी बेवसाइट के मुताबिक, मीटिंग कोई राजनीतिक कवायद नहीं, बल्कि एक सीरियस रिव्यू एक्सर्साइज है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button