जानिए क्यों पीएम मोदी ने बीएचयू की डॉक्ट्रेट डिग्री लेने से किया इनकार

0

वाराणसी। जेएनयू विवाद आज पूरे देश में गर्माया हुआ है। वहीं पीएम नरेंद्र मोदी ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी द्वारा दी जा रही डॉक्ट्रेट की डिग्री लेने से इनकार कर दिया है। नरेंद्र मोदी ने कहा है कि उनकी नीति ऐसी डिग्रियों को स्वीकार नहीं करने की है। इस मामले पर पीएमओ से कोई जवाब नहीं आया है, लेकिन सूत्रों की मानें तो मोदी ने ऐसी डिग्रियों को ना लेना पहले से ही तय कर रखा है।

नरेंद्र मोदी

नरेंद्र मोदी को बीएचयू ने डिग्री देने की पेशकश की थी

मोदी 22 फरवरी को बीएचयू जाएंगे जिस दौरान विवि ने नरेंद्र मोदी को विधि की मानद डॉक्टरेट डिग्री से सम्मानित करने की पेशकश की थी। बीएचयू ने अपने एक बयान में कहा था कि उसने एक ‘नवोन्मेषक, सुधारक, लोकसेवा और प्रशासन क्षेत्र में शानदार नेता होने एवं उनकी उल्लेखनीय सेवाओं को मान्यता देते हुए उन्हें डॉक्टर आफ लॉ की मानद उपाधि से सम्मानित करने की पेशकश की थी।

पहले भी कर चुके हैं इनकार

दूसरी तरफ वीसी के मुताबिक उन्हें लगता है कि नरेंद्र मोदी इसलिए डिग्री लेने से मना कर रहे हैं क्योंकि उन्होंने संबंधित कोर्स की पढ़ाई नहीं की है। सूत्रों की मानें तो ये पहला मौका नहीं है जब पीएम मोदी ने किसी डॉक्टरेट को मना किया हो। 2014 में उनकी अमेरिका यात्रा से पहले लुइसियाना की एक यूनिवर्सिटी ने उन्हें डॉक्ट्रेट देने का प्रस्ताव रखा था लेकिन मोदी ने इसे नकार दिया।

loading...
शेयर करें