IPL
IPL

नर्सिंग होम के निर्माण पर हाई कोर्ट ने लगाई रोक, सडक़ की  चौड़ाई थी कम

इलाहाबाद। हाईकोर्ट इलाहाबाद ने मानक  के अनुरूप  सडक़ नहीं होने पर नर्सिंग होम के निर्माण कार्य पर रोक लगाने के निर्देश जारी किये हैं। इलाहाबाद शहर के सी.वाई.चिन्तामणि रोड के दरभंगा कालोनी में बन रहे इस निजी चिकित्सालय के  निर्माण कार्य पर  हाईकोर्ट ने रोक लगायी है। निजी अस्पताल तक जाने वाली सडक़ की चौड़ाई 12 मीटर से कम है, निर्माण कार्य पर रोक लगाने के साथ ही कोर्ट की तरफ से नर्सिंग होम के मालिक डा.डी.के.अग्रवाल को नोटिस जारी कर जवाब तलब भी किया है।

नर्सिंग होम

नर्सिंग होम के मसले पर महायोजना 2021 को दी गई चुनौती

दाखिल याचिका में इलाहाबाद महायोजना-2021 के उस संशोधन को भी चुनौती दी गयी है जिसमें कहा गया है कि बारह मीटर  चौड़ी सडक़ पर भी आवासीय एरिया में नर्सिंग होम का निर्माण हो सकता है। कोर्ट इस याचिका पर 24 फरवरी 16 को सुनवाई करेगी।

यह आदेश चीफ जस्टिस डा.डी.वाई. चन्द्रचुड़ व जस्टिस यशवंत वर्मा की खण्डपीठ ने दरभंगा कालोनी वेलफेयर एसोसिएशन की ओर से दायर जनहित याचिका पर दिया है। याचिका में कहा गया है कि सी.वाई.चिन्तामणि रोड पर प्राइवेट नर्सिंग होम बारह मीटर से भी कम चौड़ाई की सडक़ पर बनाया जा रहा है। जबकि नियमानुसार 18 मीटर से कम चौड़ी सडक़ पर नर्सिंग होम के निर्माण की अनुमति नहीं दी जा सकती। इस लिए इस प्रकरण को उठाया गया है कि ऐसा क्यों और किन हालात में हो रहा है। एडीए के अधिवक्ता का कहना था कि याचीगण की नर्सिंग होम बनाने के खिलाफ दी गयी आपत्ति को एडीए ने खारिज कर दिया है। ऐसे में इस आदेश को रिवीजन में चुनौती देने का याचीगण को अधिकार प्राप्त है, याचिका पोषणीय नहीं है। इस पर कोर्ट ने कहा कि एडीए की महायोजना-2021 को भी जनहित याचिका में चुनौती दी गयी इस कारण याचिका ग्राहय है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button