नहीं थम रहा विवाद, अब दो जजों ने लिखी चीफ जस्टिस को चिठ्ठी, की ये बड़ी मांग

नई दिल्ली। पिछले कई दिनों से देश की न्याय व्यवस्था निर्धारित करने वाले सुप्रीम कोर्ट में चल रहा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस मामले में अब दो वरिष्ठ जजों जस्टिस रंजन गोगोई और मदन लोकुर ने चीफ जस्टिस को चिठ्ठी लिखी है। इस पत्र में इन दोनों जजों ने मुख्य न्यायधीश दीपक मिश्रा से फुल कोर्ट बुलाए जाने की मांग की है। फुल कोर्ट का मतलब चीफ जस्टिस द्वारा न्यायपालिका से जुड़े जन महत्व के किसी बेहद जरुरी मुद्दे पर सभी जजों की मीटिंग बुलाया जाना होता है। चीफ जस्टिस द्वारा फिलहाल इस पत्र का कोई जवाब नहीं दिया गया है।

इससे पहले जस्टिस चेलमेश्वर ने सभी जजों को लिखा था पत्र
इससे पहले 21 मार्च को वरिष्ठतम जजों में से एक जस्टिस चेलमेश्वर ने सभी जजों को पत्र लिखकर कहा था कि जजों की नियुक्ति में सरकार की दखलंदाजी पर फुल कोर्ट में बहस हो। उन्होंने यह पत्र सरकार की ओर से कर्नाटक के एक जज के खिलाफ जांच कराने की मांग के बाद लिखा गया था, जिस जज को कोलेजियम ने हाईकोर्ट में तैनाती की सिफारिश दी थी।

सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के सभी जज पारंपरिक तौर पर होने वाली चाय पर मीटिंग में चीफ जस्टिस मिश्रा के साथ थे, लेकिन इस मुद्दे पर चीफ जस्टिस की तरफ से कोई भी भरोसा दिलाने की बात सामने नहीं आयी है।

Related Articles