नीतीश कुमार का यू-टर्न – चुनाव में मोदी का नहीं विपक्ष का देंगे साथ, मुश्किल में बीजेपी

0

नई दिल्ली राष्ट्रपति चुनाव में बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पीएम मोदी का साथ देकर सबको चौंका दिया था। विपक्ष को भी नीतीश के इस कदम से बड़ा झटका लगा था। लेकिन अब नीतीश ने अपना पाला बदलते हुए मोदी सरकार को बड़ा झटका दिया है। उपराष्ट्रपति चुनावों में जेडीयू विपक्ष के साथ रहेगी और विपक्षी दलों की तरफ से सर्वसम्मति से चुने गए उम्मीदवार का समर्थन करेगी। ये बात जेडीयू के महासचिव केसी त्यागी ने कही।

नीतीश कुमार

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इस सुलह का संदेश देते हुए कहा…

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इस सुलह का संदेश देते हुए बिहार और पार्टी के केंद्रीय नेताओं को नीतीश के खिलाफ बयानबाजी नहीं करने की सख्त हिदायत दी है। कांग्रेस के इस रुख के बाद जनतादल यूनाइटेड ने भी जवाबी सकारात्मक पहल करते हुए उपराष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी महागठबंधन के उम्मीदवार का समर्थन करने का फैसला किया है।

विपक्ष जो भी साझा उम्मीदवार चुने, जेडीयू उसके साथ है

त्यागी ने कहा, विपक्ष जो भी साझा उम्मीदवार चुने, जेडीयू उसके साथ है। राष्ट्रपति चुनावों में एनडीए के प्रत्याशी का समर्थन करने के फैसले के बाद इसे जेडीयू का यू-टर्न माना जा रहा है। त्यागी ने कहा, उपराष्ट्रपति के चुनाव के लिए फिर से उन्हीं 17 पार्टियों की बैठक बुलाकर सबकी सहमति से विपक्ष के उम्मीदवार का चयन होना चाहिए। जेडीयू उपराष्ट्रपति के चुनावों में विपक्ष के साथ रहेगी।

कांग्रेस 2019 की तैयारी कर रही है

सूत्रों के मुताबिक राहुल ने दो टूक कहा कि नीतीश कुमार सबसे भरोसेमंद और अहम सहयोगियों में हैं। बिहार में उनके नेतृत्व में ही एनडीए-भाजपा को रोकने में कामयाबी मिली और अभी भी एनडीए के लिए बिहार सबसे बड़ी राजनीतिक चुनौती है। विपक्षी दलों के 2019 के महागठबंधन के लिए नीतीश और उनकी पार्टी के साथ होने को कांग्रेस अपने लिए बेहद जरूरी मान रही है।

loading...
शेयर करें